नई दिल्ली. दक्षिणपूर्वी एशियाई देशों के संगठन आसियान के सभी दस देशों के नेताओं ने भारतीय गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर आने की पुष्टि कर दी है. आसियान देशों के नेता नई दिल्ली और दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के बीच निकट संबंध की 25वीं वर्षगांठ के अवसर पर गणतंत्र दिवस में शिरकत कर रहे हैं.

विदेश मंत्रालय में सचिव (पूर्व) प्रीति सरण ने यहां बुधवार को कहा, यह भारत के इतिहास में बेमिसाल है कि गणतंत्र दिवस परेड में 10 मुख्य अतिथि एक साथ हिस्सा ले रहे हैं. सरण ने कहा, इस बार, हमारे यहां सभी दस आसियान नेता होंगे. हम अभिभूत और सम्मानित महसूस कर रहे हैं कि सभी दस आसियान देशों के नेता स्मरणोत्सव सम्मेलन और गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर हिस्सा लेने भारत आ रहे हैं.

Wanted terrorist in Delhi Red Fort attack arrested from Delhi airport | लाल किला हमले में वांटेड आतंकी बिलाल दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार

Wanted terrorist in Delhi Red Fort attack arrested from Delhi airport | लाल किला हमले में वांटेड आतंकी बिलाल दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार

उन्होंने कहा कि यह आसियान और भारत के लिए ऐतिहासिक वर्ष है क्योंकि दोनों पक्षों के बीच 25 वर्षो की दोस्ती, 15 वर्षो की शिखर सम्मेलन साझेदारी और पांच वर्षो की रणनीतिक साझेदारी पूरी हो रही है. उन्होंने कहा कि 25 जनवरी को सम्मेलन के अलावा, सरकार 16 अन्य बड़े समारोह की योजना बना रही है.

इंडोनेशिया, सिंगापुर, फिलीपींस, मलेशिया, ब्रुनेई, थाइलैंड, कंबोडिया, लाओस, म्यांमार और वियतनाम के नेता 24 जनवरी से भारत आना शुरू कर देंगे. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन नेताओं के सम्मान में भव्य रात्रि भोज देंगे.