नई दिल्ली: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने गुरुवार को कहा कि दिल्ली सरकार आवश्यक सामान बेचने वाली दुकानों
को चौबीसों घंटे खुली रहने की अनुमति देगी, ताकि 21 दिन के लॉकडाउन (बंद) के मद्देनजर इन दुकानों पर लोगों की भीड़
एकत्र नहीं हो. Also Read - Lockdown: ट्राई का दूरसंचार कंपनियों को निर्देश, लॉकडाउन में बढ़ाई जाए प्लान वैधता

उपराज्यपाल ने कहा, यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं कि किराने का सामान, सब्जियां और दूध बेचने वाली दुकानें
खुली रहें और उनके क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं का पर्याप्त भंडार मौजूद रहे. Also Read - उर्वशी रौतेला ने शेयर किया सबसे हॉट फोटो, लिखा- स्माइल फैलाइए, जर्म्स नहीं

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ एक संयुक्त डिजिटल संवाददाता सम्मेलन में बताया कि दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण का एक मामला दर्ज किया गया है और इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में इसके कुल मामले बढ़कर 36 हो गए. Also Read - लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी IPL 2020 के आयोजन में आएगी ये मुश्किल

केजरीवाल ने कहा कि लोग मुख्य रूप से घरों से भीतर ही रह रहे हैं और हालात काबू में हैं, लेकिन इस घातक वायरस को
फैलने से रोकने के लिए और सावधानी की आश्यकता है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के 36 मामलों में से 26 लोग ऐसे हैं जो हाल में विदेश
यात्रा से लौटे हैं और उनसे अन्य लोग भी संक्रमित हो गए.

केजरीवाल ने कहा कि मोहल्ला क्लीनिक का एक डॉक्टर और उसका परिवार कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है, इसके
बावजूद इन केंद्रों को बंद नहीं किया जाए और सभी प्रकार की सावधानियां बरती जा रही है.

मुख्यमंत्री ने कहा, ”हम कोविड-19 मरीजों का उपचार कर रहे चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्‍टाफ की जांच करते रहेंगे.”
देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर गुरुवार को 649 हो गई और इससे 13 लोगों की मौत हो चुकी
है.

उप राज्‍यपाल बैजल ने बताया कि संबंधित एसडीएम और एसीपी को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं कि किराने का
सामान, सब्जियां और दूध बेचने वाली दुकानें खुली रहें और उनके क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं का पर्याप्त भंडार मौजूद रहे.