22 नवंबर। देश के छह राज्यों पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, असम, अरुणाचल प्रदेश व त्रिपुरा और केंद्र शासित प्रदेश पुदुचेरी में 4 लोकसभा सीटों और विधानसभा की 9 सीटों पर हुए उपचुनाव की मतगणना मंगलवार सुबह 8 बजे से शुरू हो गई।  मध्य प्रदेश के शहडोल संसदीय क्षेत्र और नेपानगर विधानसभा क्षेत्र उपचुनाव पर सबकी खास नजर है। बता दे कि इन सभी सीटों पर उपचुनाव 19 नवंबर को हुए थे। पहले डाक मतपत्रों की गणना हो रही है, उसके बाद ईवीएम के मतों की गणना होगी। Also Read - BJP MP नंद कुमार सिंह चौहान का COVID-19 के संक्रमण के चलते मेदांता अस्‍पताल में निधन

Also Read - Love Jihad: विधानसभा में ‘मध्यप्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक-2021’पेश होने के बाद अब बिल पर होगी चर्चा

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के मुताबिक, शहडोल संसदीय क्षेत्र की मतगणना चार जिला मुख्यालयों और नेपानगर की मतगणना बुरहानपुर जिला मुख्यालय पर हो रही है। शहडोल लोकसभा क्षेत्र में मुख्य मुकाबला कांग्रेस की हिमांद्री सिंह व भाजपा के ज्ञान सिंह के बीच है, यहां कुल 17 उम्मीदवार हैं। वहीं नेपानगर विधानसभा में मुख्य मुकाबला भाजपा की मंजू दादू व कांग्रेस के अंतर सिंह के बीच है, यहां कुल चार उम्मीदवार मैदान में है। यह भी पढ़े-MP: शहडोल लोकसभा व नेपानगर विधानसभा उपचुनाव की मतगणना आज Also Read - MP: रात के अंधेरे में कुंए में SUV गिरने से पुलिस-इंस्‍पेक्‍टर और सिपाही की मौत, सुबह गांव वाले खेत पहुंचे तो पता चला

मोदी सरकार की नोटबंदी के फैसले के बाद ये पहले चुनाव हैं जिसमें सरकार को जनता के बीच अपनी मौजूदा छवि का अंदाजा हो जाएगा। थोड़ी ही देर में उपचुनाव के नतीजे आने शुरू हो जाएंगे। ये उपचुनाव मोदी सरकार की अग्नि परीक्षा साबित होंगे।

देखा जाए तो बीजेपी तीन राज्यों असम, मध्य प्रदेश और अरुणाचल प्रदेश में अपनी सीट वापस हासिल करने की मशक्कत में जुटी है। वहीं कोलकाता, भोपाल और चेन्नई की बात करें तो यहां बीजेपी को नोटबंदी के चलते थोड़ा नुकसान झेलना पड़ सकता है। क्योंकि इन राज्यों में नोटबंदी पर काफी हो हल्ला भी हुआ है। वहीं स्थानीय मुद्दों के उप चुनाव में छाए रहने के भी कयास लगाए जा रहे हैं। मतदाताओं का मिजाज स्थानीय मुद्दों के आधार पर ही बनता बिगड़ता है।  लेकिन ये कहना गलत नहीं होगा कि मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद ये पहली अग्नि परीक्षा है जिसमें उन्हें जनता की प्रतिक्रिया मिलेगी। यह भी पढ़े-उपचुनाव 19 नवंबर: मध्यप्रदेश में बीजेपी के लिए साख की लड़ाई, जानिए असम और पश्चिम बंगाल का हाल

गौरतलब है कि 19 नवंबर को हुए मतदान में शहडोल संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव में 66 प्रतिशत और नेपानगर विधानसभा में लगभग 73 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे।

मतगणना के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है। शहडोल की मतगणना शहडोल, अनूपपुर, उमरिया, कटनी जिला मुख्यालय पर हो रही है। वहीं नेपानगर विधानसभा क्षेत्र की बुरहानपुर जिला मुख्यालय में हो रही है। मंगलवार की सुबह आठ बजने के साथ डाक मतपत्रों की गणना शुरू हुई।