नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकवादी हमले के बारे में जानकारी देने के लिए सर्वदलीय बैठक शनिवार को होगी. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए हैं. यह बैठक गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बुलाई है और सभी बड़ी राजनीतिक पार्टियों को इसके लिए आमंत्रण भेज दिया गया है. Also Read - जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा रद्द करने से न तो विकास ही हुआ न ही आतंकवाद खत्म हुआ : फारूक

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि सभी पार्टियों को पुलवामा में हुए हमले और सरकार द्वारा अब तक उठाए गए कदमों की जानकारी दी जाएगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई मंत्रिमंडल की सुरक्षा मामलों की समिति की बैठक में सर्वदलीय बैठक बुलाए जाने का फैसला किया गया. इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि इस घटना के बारे में सभी पार्टियों को जानकारी देने के लिए एक बैठक बुलाई गई है ताकि पूरा देश इस मुद्दे पर एक स्वर में बात कर सके. Also Read - VIDEO: कश्मीर में ज़मीन के नीचे ऐसे ठिकाना बनाते हैं आतंकी, भारतीय सेना ने बरामद किए चाइनीज़ हथियार

40 जवान शहीद
बता दें कि पुलवामा में गुरुवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी. इसमें कम से कम 40 जवान शहीद हो गए जबकि कई गंभीर रूप से घायल हैं.
प्रधानमंत्री मोदी ने पुलवामा आतंकवादी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों को शुक्रवार की देर शाम पालम टेक्नीकल एरिया में पुष्पचक्र चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की. शहीद जवानों के पार्थिव शरीर वायुसेना के विमान से श्रीनगर से दिल्ली लाये गए. Also Read - अमरनाथ यात्रा इस साल भी रद्द, कोरोना संकट को देखते हुए अमरनाथ बोर्ड का बड़ा फैसला

पीएम मोदी ने ये कहा
इससे पहले एक अन्य कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस हमले की वजह से देश में जितना आक्रोश है, लोगों का खून खौल रहा है, यह समझ रहा हूं. इस समय जो देश की अपेक्षाएं हैं, कुछ कर गुजरने की भावनाएं हैं, वो स्वाभाविक हैं. हमारे सुरक्षा बलों को पूर्ण स्वतंत्रता दी हुई है. हमें अपने सैनिकों के शौर्य पर पूरा भरोसा है. उन्होंने कहा कि आतंकी संगठन और उनके सरपरस्त बहुत बड़ी गलती कर गए हैं और इसके गुनाहगारों को उनके किये की सजा जरूर मिलेगी.