नयी दिल्ली: जामिया विश्वविद्यालय के समीप हिंसा के बाद पैदा हुई स्थिति के मद्देनजर दक्षिणपूर्व दिल्ली के सभी सकूल सोमवार को बंद रहेंगे. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने यह घोषणा की. सिसोदिया ने हिंदी में ट्वीट किया कि दिल्ली में जामिया, ओखला, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और मदनपुर खादर समेत दक्षिण पूर्व जिले के इलाकों में सभी सरकारी और निजी स्कूल कल बंद रहेंगे. दिल्ली सरकार ने मौजूदा स्थिति को देखते हुए यह फैसला लिया है.

 

बता दें कि दक्षिण दिल्ली में नागरिकता संशोधन बिल का विरोध करते हुए भीड़ ने पेट्रोल बम से पुलिस कर्मियों, आम नागरिकों व मीडिया को निशाना बनाया. नाराज भीड़ ने दक्षिणी दिल्ली को कब्जे में ले लिया. प्रदर्शनकारियों के हिंसक होने व पुलिस के साथ झड़प के पांच घंटे बाद पुलिस ने जामिया नगर में फ्लैग मार्च किया. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसूगैस के गोले भी दागे. हिंसक भीड़ ने पुलिसकर्मियों की बड़ी टुकड़ी से संघर्ष किया और मीडिया पर भी पथराव किया. जामिया मेट्रो स्टेशन युद्ध क्षेत्र में बदल गया. नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर रविवार को प्रदर्शन के हिंसक हो जाने पर राष्ट्रीय राजधानी के निवासियों व राहगीरों को अपनी जान बचाने के लिए भागना पड़ा. करीब 1,000 लोगों की भीड़ ने सीएए को लेकर प्रदर्शन किया.

नागरिकता कानून का विरोध: दिल्ली में बसें आग के हवाले, लागों को निशाना बनाने का प्रयास

नाराज भीड़ ने बसों को आग लगाई
नाराज भीड़ ने करीब पांच बसों को आग लगा दिया या क्षतिग्रस्त किया और इसके अलावा विभिन्न कारों व एक बाइक को निशाना बनाया. पथराव में दो अग्निशमन अधिकारी घायल हो गए. नए नागरिकता अधिनियम को लेकर दक्षिण दिल्ली में करीब एक घंटे तक प्रदर्शन चला. आगजनी व पथराव करने वाली उन्मत्त भीड़ ने निवासियों को धमकियां दी. राष्ट्रीय राजधानी में नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 को लेकर यह विरोध प्रदर्शन का तीसरा दिन है. यह अधिनियम पाकिस्तान बांग्लादेश व अफगानिस्तान में सताए गए हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन व बौद्ध लोगों को भारतीय नागरिकता प्रदान करेगा.