दिल्ली: अरविंद केजरीवाल और कपिल मिश्रा के बीच मचे राजनीतिक कलह की धुरी सत्येंद्र जैन बने हुए हैं. कपिल मिश्रा के खुलासे के बाद सत्येंद्र जैन विवादों में आ गए हैं. सत्येंद्र जैन पर उनकी ही पार्टी के नेता कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के रिश्तेदार के लिए 50 करोड़ की लैंड डील करवाने का भी आरोप लगाया है. कपिल मिश्रा के मुताबिक इसी डील में दो करोड़ रुपए केजरीवाल को भी दिए गए हैं. कपिल ने कहा है कि केजरीवाल को पैसे देते हुए सत्येंद्र जैन को उन्होंने स्वयं देखा है.

जैन के राजनीतिक सफर की अगर बात करें तो वह पेशे से एक आर्किटेक्ट थे. जैन ने केंद्रीय लोक निर्माण विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार की वजह से अपनी नौकरी छोड़ दी और राजनीति के मैदान में कूद गए. शकूरबस्ती से विधायक 49 वर्षीय जैन ने बीजेपी के श्याम लाल गर्ग को 7 हजार 62 मतों के अंतर से हराया था. आज वह केजरीवाल सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं.

केजरीवाल के करीबी हैं जैन

सत्येंद्र कुमार जैन दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं और आम आदमी पार्टी के एक नेता हैं. जैन अब तक दिल्ली सरकार में कई अहम मंत्रालय जैसे- स्वास्थ्य, उद्योग, गृह, सार्वजनिक कार्य विभाग, विद्युत, शहरी विकास, परिवहन संभाल चुके हैं. वह वर्तमान में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री के रूप में कार्य कर रहे हैं.जैन को दिल्ली सरकार में काफी ताकतवर मंत्री माना जाता है. वह पीडब्ल्यूडी, ट्रांसपोर्ट और हेल्थ सहित कई अहम मंत्रालय संभाल रहे हैं. जैन केजरीवाल के भी काफी करीबी माने जाते हैं.

अन्ना हजारे के जन लोकपाल आंदोलन से बनाई पहचान 

जैन को केजरीवाल के नेतृत्व वाली सरकार में स्वास्थ्य और उद्योग विभाग आवंटित किया गया. जैन ने अन्ना हजारे के जन लोकपाल आंदोलन में सक्रिय रुप से हिस्सा लिया था, जहां वह केजरीवाल के संपर्क में आए. जाने-माने सामाजिक कार्यकर्ता जैन ने चित्रकूट स्थित सामाजिक संगठन दृष्टि की संगठन की इमारत का निर्माण कर मदद की. वह संगठन दृष्टि बाधित लड़कियों के लिए काम करता है.

वह स्पर्श नाम के सामाजिक संगठन से भी जुड़े रहे. वह मानसिक रूप से कमजोर बच्चों के लिए काम करता है. उन्होंने गरीब लड़कियों के लिए सामूहिक विवाह का भी आयोजन किया. उत्तर प्रदेश के बागपत के निवासी जैन यहां सरस्वती विहार में संयुक्त परिवार में रहते हैं. उनके पिता एक रिटायर्ड टीचर हैं.

सत्येंद्र जैन का विवादों से पुराना नाता

-सत्येंद्र जैन पर उनकी ही पार्टी के नेता कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के रिश्तेदार के लिए 50 करोड़ की लैंड डील करवाने का भी आरोप लगाया है. कपिल मिश्रा के मुताबिक इसी डील में दो करोड़ रुपये केजरीवाल को भी दिए गए हैं.

-अपने तीन साल के राजनीतिक करियर में सत्येंद्र जैन पर अपनी बेटी की गलत तरीके से स्वास्थ्य मंत्रालय में नियुक्ति से लेकर हवाला के जरिए पैसा भेजने तक के आरोप लगे हैं.

-तीन सदस्यीय शुंगलू कमेटी ने स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की बेटी सैम्या जैन की स्वास्थ्य मंत्रालय में सलाहकार के पद पर नियुक्ति को अवैध पाया था. ये नियुक्ति सत्येंद्र जैन की देख-रेख में ही हुई थी. सौम्या जैन 18 अप्रैल 2016 से 14 जुलाई 2016 तक इस पद रहीं थी, लेकिन नियुक्ति को लेकर हुए विवाद के बाद उनको इस्तीफा देना पड़ा था.

-दिल्ली में पिछले साल चिकुनगुनिया से कई बच्चों की मौत हो गई थी. इसको लेकर सत्येंद्र जैन ने विवादित बयान दिया था और कहा था कि, ‘चिकुनगुनिया से किसी की मौत नहीं होती. गूगल पर भी इसकी जानकारी है. स्वास्थ्य मंत्री जैन के इस बयान को लेकर भारी विवाद हुआ था.

-सत्येंद्र जैन पर वित्तीय अनियमितताओं के भी आरोप लगते रहे हैं.

-रिपोर्टों के मुताबिक सत्येंद्र जैन की करोड़ों की संपत्ति को आयकर विभाग कुर्की करने की कार्रवाई कर चुकी है.

-सत्येंद्र जैन पर साल 2015-16 में मंत्री रहते हुए ही कुछ प्राइवेट कंपनियों के माध्यम से धन शोधन करने का भी आरोप है.

-दिल्ली सरकार में वरिष्ठ अधिकारी रहीं इंदू शेखर मिश्रा ने सत्येंद्र जैन पर बदसलूकी करने का भी आरोप लगाया था.