चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शनिवार को कहा कि राज्य में 30 जून के बाद लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का फैसला फैसला हालात पर निर्भर करेगा. साथ ही, उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि वह वायरस के प्रसार को काबू करने के लिए कोई भी जरूरी कदम उठाने को तैयार हैं. Also Read - Coronavirus in Jharkhand: कोविड-19 संक्रमण के 42 और मामलो के साथ संक्रमित लोगों की संख्या हुई 2739

उन्होंने ‘फेसबुक लाइव’ के दौरान कहा, ‘ अगर हम महामारी को काबू करने में समर्थ हैं ,तो लॉकडाउन की आवश्यकता नहीं होगी. लेकिन अगर यह नियंत्रण से बाहर जाता है तो हमारे पास कोई अन्य विकल्प नहीं होगा.’ Also Read - कोरोना के नए प्रकार के कारण वैश्विक स्तर पर संक्रमण के बढ़े मामले, जानिए इसके पीछे की वजह

सिंह ने लुधियाना के निवासियों से कहा, ‘ यह आपके हाथों में है.’ एक आधिकारिक बयान में मुख्यमंत्री के हवाले से कहा गया कि लोगों की सुरक्षा के लिए लॉकडाउन लागू किया गया था. उन्होंने पंजाब के लोगों से सुरक्षा नियमों का उल्लंघन नहीं करने की अपील भी की. Also Read - दिल्ली में कोरोना के 2,505 नए मामले सामने आए, 10 लाख की आबादी पर किए जा रहे 32,650 टेस्ट

सिंह ने कहा कि शुक्रवार को मास्क नहीं पहनने के कारण 4,024 लोगों का चालान किया गया और सार्वजनिक स्थान पर थूकने के चलते 45 चालान किए गए. उन्होंने राज्य में चार और प्रयोगशालाओं को मंजूरी दिए जाने के साथ ही आने वाले कुछ दिनों में कोरोना वायरस की जांच में तेजी लाने की बात भी कही.

बता दें कि देश में अनलाक 1.0 के बाद से कोरोना तेजी से फैला है. पूरे देश में कोरोना के कुल मामले पांच लाख से अधिक हो गए हैं.कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए कई राज्य सरकारों ने जुलाई अंत तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला लिया है. इसी को ध्यान में रखते हुए सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि अगर हालात और बिगड़े तो पंजाब भी इस बारे में सोच सकता है.