farmers protest: संयुक्त राज्य अमेरिका में 87 किसान संगठनों, कृषि और खाद्य न्याय समूहों ने भारतीय किसानों के विरोध प्रदर्शन के समर्थन में भारतीय किसान संघ को अपना समर्थन दिया, जोकि 40 से अधिक भारतीय किसान संघों का यूनाइटेड फ्रंट है.Also Read - BJP सांसद की किरकिरी, किसानों से ताली बजाने को कहा, सुनने को मिला इनकार

बयान के अनुसार, “भारत के किसान अन्यायपूर्ण कृषि कानूनों के खिलाफ इतिहास में दुनिया के सबसे जीवंत विरोधों में से एक के लिए लामबंद हुए हैं. उन्होंने उन तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए प्रदर्शन किया है, जिसे बिना किसानों की जानकारी या संपर्क किए बिना पारित कर दिया गया.” Also Read - Rakesh Tikait ने क्यों कहा- खत्म नहीं हुआ है किसानों का आंदोलन? जानें 26 जनवरी का क्या है 'प्लान'

हस्ताक्षरकर्ताओं ने इसके अलावा अन्य कई बातों पर चिंता व्यक्त की. बयान में कहा गया है, “कृषि कानून को बिना किसी संसदीय नियमों का पालन किए बगैर पारित किया गया और भारत सरकार ने किसानों को प्रदर्शन के लोकतांत्रिक अधिकार से वंचित करने के लिए सत्तावादी रणनीति का उपयोग किया.” Also Read - Indian Railways/IRCTC: पंजाब में किसानों का प्रदर्शन जारी, उत्तर रेलवे ने आज रद्द कर दी हैं 68 ट्रेनें, देखें पूरी लिस्ट

(इनपुट आईएएनएस)