Also Read - The Great Resignation: लाखों ऑस्ट्रेलियाई अपनी नौकरी छोड़ने की तैयारी में, सैलरी नहीं सम्मान की है तलाश

वाशिंगटन, 29 जनवरी | अमेरिका में सिख समुदाय की आबादी पांच लाख से अधिक है। इसकेबावजूद ज्यादातर अमेरिकी सिख धर्म से अपरिचित हैं। यहां तक कि कुछ अमेरिकी नागरिकों ने अपने सिख पड़ोसियों को लेकर सतर्क रहने की बात स्वीकार की। वाशिंगटन स्थित ‘हार्ट रिसर्च एसोसिएट्स’ द्वारा किए गए शोध में यह बात सामने आई है। शोध के मुताबिक अमेरिकी नागरिकों में सिख धर्म के प्रति जागरूकता और सकारात्मक भावनाओं को बढ़ाने की अपार क्षमता है। Also Read - PM Narendra Modi US Visit: प्रधानमंत्री मोदी के 7 साल और 7 बार अमेरिका यात्रा, जानें कब क्या हुआ खास

विशेष रूप से लिंग, जाति और धर्म में समानता पर सिख धर्म के विश्वास पर जोर देने वाली जानकारी साझा करने से बेहतर समझ हासिल की जा सकती है। इससे सिख और अमेरिकी मूल्यों में मजबूत समानताओं को स्पष्ट किया जा सकेगा और सिख धर्म में पगड़ी के महत्व को समझा जा सकेगा। नेशनल सिख कैंपेन (एनएससी) द्वारा तैयार की गई इस रिपोर्ट में सिख समुदाय के प्रति अमेरिकी नागरिकों के मौजूदा विचारों का विश्लेषण किया गया है और वहां सिख अमेरिकी नागरिकों की स्वीकार्यता की संख्या बढ़ाने के लिए मुख्य बातों को बताया गया है। Also Read - American Federal Reserve: अमेरिकी फेडरल रिजर्व के संकेतों का जल्द दिख सकता है असर

यह अध्ययन सिखों के बारे में जागरूकता आधारित अभियान की नींव तैयार करने के लिए किया गया है। 9/11 अमेरिकी हमले के बाद सिखों के प्रति नाटकीय ढंग से हिंसा के मामलों में वृद्धि हुई थी। यह रिपोर्ट इसी गलतफहमी को दूर करने में कारगर होगी। एनएससी के सह-संस्थापक गुरविन सिंह आहूजा के मुताबिक, “इस ऐतिहासिक अध्ययन से सिख समुदाय अमेरिकी नागरिकों को शिक्षित करने में सक्षम होंगे कि दोनों एक दूसरे से संबंधित और प्रभावी हैं।”

अध्ययन के दौरान अध्ययनकर्ताओं ने पाया कि जब सर्वेक्षण में शामिल अमेरिकी नागरिकों को सिख इतिहास और मान्यताओं के बारे में बताया गया तो सिख धर्म के प्रति उनकी धारणाएं उदासीन से सकारात्मक हुई। अगस्त और सितंबर 2014 में किए गए इस अध्ययन में विभिन्न शैक्षिक पृष्ठभूमियों वाले श्वेत अमेरिकी नागरिकों के तीन अलग-अलग समूहों को शामिल किया गया।