स्टॉकहोम. दो प्रतिरक्षा वैज्ञानिकों (इम्यूनोलाजिस्ट) अमेरिका के जेम्स एलीसन (James Allison) और जापान के तासुकु होन्जो को कैंसर थेरेपी की खोज के लिए चिकित्सा के क्षेत्र का नोबेल पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गई है. ज्यूरी ने सोमवार को यह जानकारी दी. नोबेल एसेंबली ने कहा, ‘जेम्स एलिसन और तासुकु होन्जो को ऋणात्मक प्रतिरक्षा विनियमन के अवरोध से कैंसर थेरेपी की खोज के लिए’ इस सम्मान से नवाजे जाने की घोषणा की गई है. बता दें कि इस साल के लिए दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार- नोबेल पुरस्कारों की घोषणा शुरू हो गई है. 1 अक्टूबर से 8 अक्टूबर तक विभिन्न क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वालों को यह पुरस्कार दिए जाएंगे. हालांकि इस साल साहित्य के नोबेल पुरस्कार की घोषणा नहीं की जाएगी. स्वीडन के नोबेल एकेडमी के इतिहास में पिछले 70 वर्षों में ऐसा पहली बार है, जब साहित्य के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार नहीं दिया जा रहा है.

इन दोनों वैज्ञानिकों ने कैंसर के इलाज के लिए ऐसी थेरपी विकसित की है जिसमें प्रतिरक्षा अवरोधक थेरेपी कुछ कैंसर कोशिकाओं के साथ साथ इम्यून सिस्टम से बने प्रोटीनों को निशाना बनाती है. एलीसन टेक्सास विश्वविद्यालय के प्रोफेसर हैं और होन्जो क्योतो विश्वविद्यालय के प्रोफेसर हैं. इन दोनों को 2014 में उनके अनुसंधान के लिए अन्य पुरस्कार दिया जा चुका है. इन दोनों को नोबेल पुरस्कार के तहत लगभग 10.1 लाख अमेरिकी डॉलर मिलेंगे. एलीसन और होन्जो को 10 दिसम्बर को स्टॉकहोम में एक औपचारिक समारोह में ये पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे.

(इनपुट – एजेंसी)