अमेठी: अमेठी जिले में पुलिस की कार्यप्रणाली से नाराज अक्सर विवादों में रहने वाले सपा विधायक राकेश प्रताप सिंह ने गौरीगंज कोतवाली के गेट पर धरना दिया. विधायक का आरोप है कि गौरीगंज पुलिस बेवजह वहां के स्थानीय निवासी को परेशान कर रही है. उच्चाधिकारियों के आश्वासन के बाद विधायक ने धरना समाप्त किया.

15 अगस्त पर ‘भारत माता की जय’ बोलना है जरूरी: शिया वक्फ बोर्ड

बेलगाम हैं अधिकारी: विधायक
गौरीगंज क्षेत्र से विधायक राकेश प्रताप सिंह ने मौजूदा सरकार के शासन में अधिकारियों और कर्मचारियों के बेलगाम होने और भू-माफिया के हावी होने का आरोप लगाते हुए शनिवार शाम से लेकर आधी रात तक गौरीगंज कोतवाली के बाहर धरना प्रदर्शन किया. गौरतलब है कि सपा विधायक राकेश प्रताप अक्सर विवादों में रहते हैं विधानसभा चुनाव के दौरान उनका वोटरों को धमकाने का एक वीडियो भी वायरल हुआ था. जिसमें उन्होंने कहा था कि बसपा प्रत्याशी के नामांकन में कौन-कौन गया था, उनको पता है और अगर वो चाहें तो उनको अपने आगे नाक रगड़वा सकते हैं. तब गौरीगंज पुलिस ने मामले का संज्ञान लेते हुए विधायक राकेश प्रताप सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था.

यूपी में कांग्रेस को गठबंधन से बाहर करना भविष्य के लिए सही नहीं: सलमान खुर्शीद

मकान नहीं बनाने दे रही पुलिस
विधायक ने आरोप लगाया कि गौरीगंज क्षेत्र के नवगंवा निवासी राजाराम अपने खाते की जमीन पर मकान बना रहा है. राजस्व कर्मियों ने भी पैमाइश करके उसके पक्ष में रिपोर्ट दे दी, मगर इसके बावजूद गौरीगंज पुलिस उसे तरह-तरह से परेशान कर रही है और उसे मकान नहीं बनाने दे रही है. विधायक द्वारा धरना दिए जाने की सूचना मिलने पर अपर जिलाधिकारी ईश्वर चंद और अपर पुलिस अधीक्षक बी सी दूबे ने मौके पर पहुंचकर विधायक से बातचीत की और उन्‍हें धरना समाप्‍त करने के लिये मनाने की कोशिश की. पीड़ित को इंसाफ मिलने के आश्‍वासन पर विधायक ने रात करीब डेढ़ बजे धरना समाप्‍त किया. (इनपुट एजेंसी )