नई दिल्ली : देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) की रोकथाम के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन (Lockdown) जारी है और केंद्र सरकार इसे बढ़ाने पर विचार कर रही है. कई राज्यों ने तो 30 अप्रैल तक के लिए पहले ही लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान कर दिया है. इस बीच असम (Assam) और मेघालय (Meghalaya) की सरकार ने राज्यों में शराब की दुकान खोले जाने का ऐलान किया है. असम सरकार ने हफ्ते के सातों दिन शराब की दुकानें खोलने का फैसला किया है, वहीं मेघालय में सिर्फ शुक्रवार को ही दुकान खोलने का फैसला लिया गया है. Also Read - पीएम मोदी बोले- भारत ने सबसे पहले लगाया लॉकडाउन इसलिए आ रही करोना के मामलों में कमी

सरकार का कहना है कि शराब की दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पूरा ख्याल रखा जाएगा. असम सरकार के फैसले की जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि, लोगों की मांग को देखते हुए सरकार ने शराब की दुकानें खोले जाने की इजाजत दे दी है. इसके साथ ही, सभी दुकानों पर ग्राहकों के बीच दूरी बनाए रखने के नियम को भी सख्त कर दिया गया है. राज्य में हफ्ते के सातों दिन सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक शराब की दुकानों को खोलने की मंजूरी दी गई है. Also Read - Video: बोर न हों कोरोना के मरीज, पीपीई किट में डॉक्टर ने 'घुंघरू' गाने पर किया जबरदस्त डांस

असम में आबकारी विभाग के एक आदेश के अनुसार राज्य में सभी शराब की दुकानें, थोक गोदाम, बॉटलिंग प्लांट और डिस्टिलरी सोमवार से रोजाना सात घंटे खुलेंगे. आबकारी विभाग के अतिरिक्त उपायुक्त (डीसी) एस के मेधी के एक पत्र में कहा गया कि राज्य सरकार ने 13 अप्रैल से शराब की दुकानें खोलने की मंजूरी दे दी है. वे सभी स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी विभिन्न दिशानिर्देशों के अनुपालन के अधीन है. Also Read - हिंसक झड़प के बाद असम और मिजोरम के मुख्यमंत्रियों ने की फोन पर बात, केंद्र ने बुलाई आपात बैठक

वहीं मेघालय सरकार ने शराब की दुकानें खोले जाने के साथ ही दूर-दराज इलाके में रहने वालों को होम डिलीवरी की भी सुविधा देने की बात कही है. बता दें भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते अभी तक 308 लोगों की मौत हो चुकी है. देश में अभी तक कुल 9,152 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आ चुके हैं, जिनमें से 7,987 एक्टिव केस हैं और 856 लोग इस महामारी की चपेट से बाहर निकल कर अपने-अपने घर जा चुके हैं.

देश में लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया था, जिसकी अवधि 14 अप्रैल को खत्म हो रही है. लेकिन, वर्तमान समय में कोरोना की स्थिति को देखते हुए सभी राज्य के मुख्यमंत्री लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाए जाने के पक्ष में दिखाई दे रहे हैं, जिसके चलते अंदेशा लगाया जा रहा है कि 30 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन को बढ़ाया जा सकता है.