नई दिल्ली: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बिहार में एनडीए नेताओं की इफ्तार पार्टियों को लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की ओर से किए गए तंज भरे ट्वीट को लेकर उन्‍हें कड़ी फटकार लगाई. शाह ने सिंह से ऐसी टिप्पणियां करने से बचने के लिए कहा. बीजेपी अध्‍यक्ष ने गिरिराज सिंह को बुलाकर ये बातें मंगलवार को ही कही हैं. पार्टी सूत्रों ने यह जानकारी दी. सिंह के ट्वीट पर भाजपा सहयोगी दलों जेडीयू समेत अन्‍य ने तीखी प्रतिक्रियाएं दी हैं. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के तंज पर जेडीयू के एक नेता ने पलटवार करते हुए कहा कि उनकी इतनी हैसियत ही नहीं है कि वह हमारे नेता नीतीश कुमार को कोई नसीहत दें. भाजपा के एक नेता ने कहा कि शाह ने सिंह को फटकार लगाई है और उन्हें ऐसी टिप्पणियां करने से बचने को कहा है.

  गिरिराज सिंह के तंज पर जेडीयू का पलटवार- कहा- उनकी हैसियत नहीं कि नीतीश को नसीहत दें

सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान समेत राज्य में एनडीए के शीर्ष नेताओं की इफ्तार’ में शामिल होने की तस्वीरें पोस्ट की और सवाल किया कि क्यों वे अपने खुद के कर्म-धर्म को मनाने में पीछे रह जाते हैं, जबकि दूसरों की धार्मिक रीतियों को मनाने में आगे रहते हैं. बीजेपी नेता एवं बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी एक तस्वीर में दिख रहे हैं. उनके ट्वीट पर भाजपा सहयोगी दलों में से जेडीयू समेत अन्‍य ने तीखी प्रतिक्रियाएं दी हैं.

एलजेपी के नेता चिराग पासवान ने कहा कि उनके बयान भारतीय परंपराओं पर सवाल खड़े करते हैं. बीजेपी नेता पर पलटवार करते हुए चिराग पासवान ने कहा कि उनकी पार्टी सबका साथ, सबका विश्वास, सबका विकास में विश्वास करती है, जो नारा हाल में एनडीए की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिया था.

केंद्रीय मंत्री सिंह ने ट्वीट के साथ बिहार के नेताओं की इफ्तार वाली चार तस्वीरें भी पोस्ट की हैं, जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, रामविलास पासवान, सुशील मोदी सहित कई नेताओं की तस्वीर है.

जेडीयू के सीनियर नेता और मंत्री अशोक चौधरी ने कहा है कि उनकी इतनी हैसियत ही नहीं है कि वह हमारे नेता नीतीश कुमार को कोई नसीहत दें. उन्होंने कहा कि यह वही गिरिराज सिंह हैं जो चुनाव के वक्त नीतीश जी को 10 बार फोन करते थे और अपने पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए आग्रह किया करते थे. आज वह जो 4.5 लाख वोट से जीतकर संसद पहुंचे है और मंत्री बने हैं वह नीतीश कुमार की ही देन है.

चौधरी ने गिरिराज पर अपने को हिंदू समुदाय का बड़ा नेता बताने के चक्कर में कुछ भी अनाप-शनाप बयानबाजी करने की आदत होने का आरोप लगाया. जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने ट्वीट किया कि गिरिराज सिंह जी, हिंदू का मतलब हिंसा नहीं होता है. हम ढोंग नहीं करते हैं और ना ही हमें झूठा दिखावा करना पड़ता है. “मंदिर वहीं बनाएंगें, लेकिन तारीख नहीं बताएंगें” यह नारा हमें नहीं देना पड़ता है. देश उन्माद से नहीं चलता है. ऐसा बयान कोई मानसिक तौर पर बीमार व्यक्ति ही दे सकता है.