नई दिल्ली: बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी के एक और कार्यकर्ता की कथित हत्या के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की आलोचना की और कहा कि तृणमूल कांग्रेस की सरकार राज्य में कानून व्यवस्था कायम रखने में नाकाम रही है. शाह ने ट्वीट में कहा, पश्चिम बंगाल के बलरामपुर में एक और कार्यकर्ता दुलाल कुमार की हत्या के बारे में जानकर दुखी हूं. पश्चिम बंगाल में हो रही यह निर्ममता और हिंसा शर्मनाक और अमानवीय है. ममता बनर्जी की सरकार राज्य में कानून व्यवस्था कायम रखने में पूरी तरह से नाकाम रही है.उन्होंने कहा, मैं शोकाकुल परिवार के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं. मैं भाजपा के लाखों कार्यकर्ताओं के साथ दुलाल कुमार के परिवार का दुख साझा करता हूं. ईश्वर उनके परिवार को इस अपूरणीय नुकसान को सहने की शक्ति दे.

दो दिन पहले भी मिला था शव
गौरतलब है कि पुरुलिया में एक और व्यक्ति का शव लटका मिला. घटना से आक्रोशित स्थानीय लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया. इस व्यक्ति की उम्र 35 वर्ष बताई गई है. बीजेपी ने उन्हें अपना कार्यकर्ता बताया है. इस घटना से दो दिन पहले त्रिलोचन महतो (20) का शव 30 मई को जिले के बलरामपुर में एक पेड़ से लटका मिला था और भाजपा ने दावा किया था कि तृणमूल ने उसके कार्यकर्ता महतो की हत्या की है. हालांकि तृणमूल कांग्रेस ने इन आरोपों से इनकार किया और इसे निराधार बताया.

महतो की मौत की होगी सीआईडी जांच
एडीजी (कानून व्यवस्था) अनुज शर्मा ने बताया कि पश्चिम बंगाल सरकार ने महतो की मौत के मामले में सीआईडी जांच कराने के आदेश दिये हैं. पुरुलिया के पुलिस अधीक्षक जॉय बिस्वास ने बताया कि इसी पुलिस थाना क्षेत्र में दुलाल कुमार का शव दावा गांव में एक खेत के पास लटका मिला. कुमार की मौत से भड़के ग्रामीणों ने बलरामपुर पुलिस थाने के सामने प्रदर्शन किया. ग्रामीण दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे.बिस्वास ने कहा, हम दोषियों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं और जांच जारी है. हमारे अधिकारी घटनास्थल पर मौजूद हैं.

बीजेपी के कार्यकर्ता होने की पुष्टि बाकी
जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि कोलकाता से करीब 295 किलोमीटर दूर बलरामपुर में एक बिना हस्ताक्षर वाला हाथ से बंगाली में लिखा हुआ नोट महतो के शव के पास से बरामद हुआ था. इस खत में कहा गया कि उसे राज्य में हाल में हुए स्थानीय निकाय चुनावों में भाजपा के लिये काम करने के लिये दंडित किया गया. बिस्वास ने कहा कि जिस जगह कुमार का शव लटका मिला वहां ऐसा कोई खत बरामद नहीं हुआ है. पुलिस अधीक्षक ने कहा कि वह भाजपा या किसी दूसरे राजनीतिक संगठन का सदस्य था, इसकी पुष्टि अभी नहीं हुई है.

टीएमसी ने की हत्या की निंदा
इस बीच तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने दो युवकों की हत्या की निंदा की है और दोषियों को सख्त सजा दिए जाने की मांग की. उन्होंने ट्वीट किया, हम इस हत्या की कड़ी निंदा करते हैं. हर नजरिये से जांच होनी चाहिए. इस घटना के दोषियों को सजा जरूर मिलनी चाहिए. इसमें झारखंड की सीमा की क्या भूमिका हो सकती है? बजरंग दल, माओवादी या भाजपा के कौन से तत्व शामिल हो सकते हैं ? समुचित जांच के जरिये सच सामने आना चाहिए.