नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ दिल्ली में COVID19 की स्थिति को लेकर एक बेहद अहम बैठक की. इस बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए. इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन बैठक ने भी गृह मंत्रालय पहुंचकर हिस्सा लिया.Also Read - Coronavirus in India: पिछले 24 घंटों में COVID-19 के 2.35 लाख नए मामले, 3.35 लाख लोग हुए रिकवर

बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह की दिल्ली के सीएम और एलजी के साथ एक सप्ताह में यह तीसरी बैठक है. यह बैठक ऐसे समय में हो रही है जब राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार को 3,630 नए कोरोना मामले आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 56,000 से अधिक हो गई है, जबकि मरने वालों की संख्या 2,112 हो गई. Also Read - Haryana में कोरोना पाबंदियों में ढील, 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स; स्कूलों को लेकर यह हुआ फैसला

दिल्ली सरकार ने शनिवार को निजी अस्पतालों में कोविड-19 आइसोलेशन बेड का शुल्क 8,000 से 10,000 रुपये, जबकि वेंटिलेटर के साथ आईसीयू बेड का शुल्क 15,000 से 18,000 रुपये तय करने का आदेश जारी किया है. दिल्ली स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा स्थापित उच्चस्तरीय समिति की सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है. Also Read - Uttarakhand Elections 2022: अमित शाह ने रुद्र प्रयाग में किया प्रचार, काम के आधार पर मांगे वोट