नई दिल्ली. बजट सत्र के पहले चरण के आखिरी दिन शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के संसदीय बोर्ड की बैठक हुई. बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और वित्त मंत्री अरुण जेटली समेत कई नेता मौजूद रहे. इस अहम बैठक के दौरान राफेल डील पर कांग्रेस के आरोपों से निपटने की रणनीति तैयार की गई. इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यमवर्ग और किसानों के मुद्दे पर सांसदों को टिफिन के दौरान चर्चा करनी चाहिए.Also Read - PM मोदी बोले- इन लोगों की पहचान समाजवादी नहीं, परिवारवादी की बन गई, सिर्फ अपने परिवार का भला किया

इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सियासत करने की शैली अलोकतांत्रिक है. यहीं वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के दौरान हंगामा हुआ. Also Read - Punjab Polls: कांग्रेस से जुदा हुईं अमरिंदर की राहें! पंजाब के पूर्व CM का नई पार्टी बनाने का ऐलान; BJP से इस 'शर्त' पर गठबंधन

Also Read - कैप्‍टन अमरिंदर सिंह जल्‍द अपनी पार्टी की घोषणा करेंगे, BJP समेत इन दलों से कर सकते हैं गठबंधन

पार्टी की यह मीटिंग ऐसे समय में हुई है जब संसद में बजट सत्र के दौरान सरकार को विपक्ष का भारी विरोध झेलना पड़ रहा हैअनंत कुमार ने यह भी बताया कि शाह ने बैठक में कहा कि राफेल डील के मुख्य बिन्दुओं के बारे में बताया जा चुका है और आगे भी बताएंगे, लेकिन हर एक कंपोनंट को लेकर चर्चा करना देशहित में कितना उचित होगा?

बता दें कि पीएम मोदी आज ही तीन देशों की यात्रा पर रवाना हुए. मोदी फ़िलिस्तीन, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और ओमान के दौरे पर भी निकले हैं.