कोलकाता: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल की राजधानी में विवादित राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) और नागरिकता (संशोधन) विधेयक 2019 पर सेमिनार को संबोधित करते हुए कहा कि घुसपैठियों को देश से चुन-चुनकर बाहर किया जाएगा. धारा 370 पर बोलेत हुए अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल और धारा 370 के बीच है बेहद खास कनेक्शन है. शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल और धारा 370 का एक विशेष संबंध है, क्योंकि पश्चिम बंगाल की मिट्टी के पुत्र श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी थे जिन्होंने ‘एक निशान, एक विधान एक प्रधान’ का नारा बुलंद किया था. उन्होंने कहा कि बंगाल के सपूत श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना आज सच हुआ.


बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में आनेवाले विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत की बीजेपी की सरकार बनेगी. उन्होंने कहा कि 2014 में 2 सीट और आज 18 सीट मिली है. लेकिन करीब ढाई करोड़ बंगाल की जनता ने कमल के निशान पर वोट किया है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए अमित शाह ने ममता सरकार पर घुसपैठिए को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसा राजनीतिक स्वार्थ के चलते किया जा रहा है.

विवादित एनआरसी पर बोलेत हुए अमित शाह ने कहा, “मैं आज हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध और ईसाई शरणार्थियों को आश्वस्त करना चाहता हूं, आपको केंद्र द्वारा भारत छोड़ने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा. अफवाहों पर विश्वास न करें. NRC से पहले, हम नागरिकता संशोधन विधेयक लाएंगे, जिससे इन लोगों को भारतीय नागरिकता प्राप्त होगी.”