नयी दिल्ली: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और समझा जाता है कि दोनों नेताओं ने नई सरकार के गठन की बारीकियों पर चर्चा की. नई सरकार में मंत्रिपरिषद को गुरूवार को शपथ दिलाई जाएगी.Also Read - Punjab Polls: पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने पंजाब में नई सरकार बनाने का बताया फॉर्मूला, BJP से गठबंधन पर कही यह बात

Also Read - Parliament Winter Session: पीएम मोदी ने कहा- सरकार संसद में खुली चर्चा को तैयार, देश की तरक्की के लिए रास्ते खोजे जाएं

मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में सभी राज्यपाल, सीएम व प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं को बुलावा Also Read - किस मॉडल पर देश का सर्वांगीण और समावेशी विकास है संभव, अमित शाह ने बताया

भाजपा में एक तबके का मानना है कि अभूतपूर्व बहुमत से सत्ता में पार्टी की वापसी कराने में अहम भूमिका निभाने के बाद शाह सरकार में मंत्री पद संभाल सकते हैं. हालांकि, शाह ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है. मोदी और शाह की मुलाकात में किन मुद्दों पर बात हुई, इस बारे में आधिकारिक तौर पर तो कुछ नहीं कहा गया, लेकिन माना जाता है कि दोनों नेताओं ने दूसरी बार मोदी सरकार के गठन की बारीकियों पर चर्चा की होगी. इस बात पर भी चर्चा हुई होगी कि किन नेताओं को मंत्री बनाना है और किन्हें किस मंत्रालय का प्रभार सौंपना है.

नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेंगे बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद

सूत्रों ने बताया कि नई मंत्रिपरिषद में पश्चिम बंगाल एवं तेलंगाना जैसे राज्यों में भाजपा के अच्छे प्रदर्शन की झलक मिल सकती है और इन राज्यों से चुने गए सांसदों को मंत्री पद दिया जा सकता है. कई नेताओं का मानना है कि पिछली सरकार के सबसे प्रमुख सदस्यों को मंत्री पद पर बरकरार रखा जा सकता है.

ममता बनर्जी को बड़ा झटका, बंगाल के 3 विधायक व 50 पार्षद भाजपा में शामिल