कोलकाता: पश्चिम बंगाल में 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए तृणमूल कांग्रेस द्वारा चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की कथित तौर पर सेवाएं लेने की आलोचना करते हुए भाजपा ने कहा है कि वह अमित शाह (भाजपा अध्यक्ष) से बड़े रणनीतिकार नहीं हैं. भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि किशोर की तुलना में अमित शाह बड़े चुनावी रणनीतिकार हैं और जहाँ तक चुनावी रणनीति का सवाल है, भाजपा प्रमुख उस कॉलेज के प्रिसिंपल हैं जिसमें प्रशांत किशोर अभी तक छात्र हैं. Also Read - स्टार प्रचारक का दर्जा रद्द: कमलनाथ बोले- EC ने मुझे कोई नोटिस नहीं दिया, मेरे वकील देखेंगे इस मामले को

Also Read - Bihar Assembly Election 2020 : तेजस्वी का भाजपा पर निशाना, 'पहले महंगाई इनके लिए 'डायन' थी, अब 'भौजाई' बन गई'

PK के ममता बनर्जी संग काम करने पर बोले नीतीश कुमार, कल वह खुद ही बताएंगे Also Read - यूपी में बीजेपी के लिए अब पहली चुनौती अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी, क्‍या बसपा का ग्राफ गिरेगा?

भाजपा महासचिव एवं पश्चिम बंगाल के लिए पार्टी प्रभारी विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल की जनता का मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर से भरोसा उठ चुका है और कोई भी चुनावी रणनीतिकार इस चीज को बदल नहीं सकता. किशोर ने गुरुवार को यहां तृणमूल प्रमुख से मुलाकात की थी, जिससे निकट भविष्य में उनके ममता के साथ काम करने को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं, ताकि टीएमसी को राज्य में भाजपा के बढ़ते प्रभाव को रोकने और 2021 के विधानसभा चुनाव में बंगाल पर अपनी पकड़ बनाए रखने में मदद मिल सके.

ममता से मिले प्रशांत किशोर, पश्‍च‍िम बंगाल में TMC के मिशन 2021 के लिए कर सकते हैं काम

बहरहाल, तृणमूल नेतृत्व और किशोर, दोनों ही इस नियुक्ति के बारे में खुल कर कुछ नहीं बोल रहे हैं. हालांकि, टीएमसी सूत्रों ने बताया कि किशोर के अपनी टीम के साथ जुलाई से बंगाल में काम करने की संभावना है. गौरतलब है कि हालिया लोकसभा चुनाव में राज्य की 42 में 18 सीटों पर भाजपा ने जीत हासिल की. वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने 22 सीटें हासिल की.