पाकुड़: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को विपक्ष पर तीखा हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने झारखंड के विकास के लिए बहुत कम काम किया और यह जानना चाहा कि हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाला झारखंड मुक्ति मोर्चा क्यों सत्ता में रहते हुए नक्सलवाद को खत्म नहीं कर पाया.

एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने यहां कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने अलग झारखंड राज्य बनाया और मोदी सरकार ने नक्सलवाद को जमीन के 20 फुट नीचे दफनाने के बाद इसके विकास का काम किया. कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि उन्हें अपनी पार्टी द्वारा किए गए विकास कार्यों का ब्योरा देना चाहिए.

भाजपा नेता ने कहा कि झारखंड का साहेबगंज कभी एशिया और यूरोप में देशों के लिए व्यापार गलियारा हुआ करता था, लेकिन “कांग्रेस ने राज्य में अपने शासन के दौरान सभी व्यापारिक अवसरों को बर्बाद कर दिया.” उन्होंने कहा, राहुल गांधी पूछते रहते हैं कि हम राज्य में अपनी रैलियों के दौरान कश्मीर (अनुच्छेद 370 को रद्द करने) का जिक्र क्यों करते हैं. उन्होंने इतालवी चश्मा पहन रखा है और उन्हें यह जानकारी नहीं है कि देश की रक्षा के लिए राज्य के युवा सीमा पर अपना खून बहाते हैं.