नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री (Minister of Home Affairs) अमित शाह (Amit Shah) ने बुधवार को लोकसभा (Parliament) को सूचित किया कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने 2015 से स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) के मानकों का 1,892 बार उल्लंघन किया. एसपीजी संशोधन विधेयक 2019 पर जवाब देते हुए शाह ने कहा कि पिछले पांच सालों के दौरान राहुल गांधी ने दिल्ली से बाहर के 247 दौरों के लिए एसपीजी को सूचित नहीं किया.

सरकार द्वारा दी गई उच्चतम सुरक्षा से समझौता करने पर शाह ने खुलासा किया कि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) 1991 के बाद से 99 विदेश दौरों पर गई, प्रियंका ने इस तरह के 78 यात्राओं पर एसपीजी की सुरक्षा की मांग नहीं की. इसी तरह से प्रियंका ने 2015 के बाद से 349 अवसरों पर एसपीजी मानकों का उल्लंघन किया. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) पर गृह मंत्री ने कहा कि पार्टी सुप्रीमों ने 600 बार एसपीजी अधिकारियों को अपने दौरे के बारे में सूचित नहीं किया. गृह मंत्री का मानना है कि सरकार ने गांधी परिवार से कोई सुरक्षा वापस नहीं ली है.

कांग्रेस को केवल एक परिवार की चिंता, मोदी सरकार को पूरे देश के सुरक्षा की चिंता: अमित शाह

अमित शाह ने कहा, “सच्चाई यह है किहमने एसपीजी की जगह सीआरपीएफ (CRPF) को रख दिया है. हमने खतरे के मद्देनजर उन्हें एंबुलेंस व एडवांस सुरक्षा संपर्क टीम प्रदान की है. हालांकि, जब निदेशक खुफिया ब्यूरो ने परिवर्तन (सुरक्षा में) के बारे में राहुल गांधी को सूचना देने की कोशिश की तो खुफिया प्रमुख उनसे मिल नहीं सके.”

शाह द्वारा गांधी परिवार को लेकर एसपीजी सुरक्षा कवर के मद्देनजर किए गए सनसनीखेज खुलासे पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) ने आरोप लगाया कि सरकार गांधी परिवार को निशाना बना रही है और गृह मंत्री द्वारा कांग्रेस नेताओं की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है.

हालांकि, शाह ने अधीर रंजन से कहा कि उनकी मंशा इस तरह के खुलासे करने की सदन में कभी नहीं थी, लेकिन विपक्षी पार्टियों ने जब उन्हें सच के खुलासे को मजबूर किया तो वह गांधी परिवार द्वारा एसपीजी मानकों के उल्लंघन संबंधी आंकड़ों व तथ्यों को उजागर करने को बाध्य हुए.

(इनपुट-आईएएनएस)