कोकराझार: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने असम (Assam) के कोकराझार में रैली करते हुए कहा कि पहले असम चुनाव का सेमीफाइनल जीता, अब यहाँ फाइनल जीतना है. अमित शाह ने कहा कि एक साल पहले किए गए बोडोलैंड टेरिटोरियल रीजन (बीटीआर) समझौते ने पूर्वोत्तर में उग्रवाद को समाप्त करने की प्रक्रिया की शुरुआत की है. कांग्रेस (Congress) पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अतीत में विभिन्न उग्रवादी संगठनों के साथ कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए लेकिन वह किये गए वादों को निभाने में विफल रही.Also Read - Assam: कर्बी आंगलोंग में KDLF के हथियार और गोला-बारूद का बड़ा जखीरा बरामद

अमित शाह ने कहा, ‘‘मैं यहां यह बताने के लिए आया हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और भाजपा बीटीआर (BJP-BTR) समझौते के सभी प्रावधानों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जो क्षेत्र में शांति और विकास का मार्ग प्रशस्त करेगा. यह क्षेत्र में उग्रवाद के अंत की शुरुआत का प्रतीक है.’’ उन्होंने बीटीआर समझौता दिवस के अवसर पर अपने संबोधन के दौरान कहा कि भाजपा सरकार में असम के सभी समुदायों के राजनीतिक अधिकार, संस्कृति और भाषा सुरक्षित है. Also Read - Netaji Subhash Chandra Bose की 125वीं जयंती : राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलि, ममता ने कहा- राष्ट्रीय अवकाश घोषित करें

Amit Shah ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री शनिवार को असम में थे और उन्होंने एक लाख से अधिक स्थानीय मूल के लोगों को भूमि पट्टे वितरित किए. राज्य सरकार ने पहले ही बोडो को असम की सहायक भाषा बना दिया है.’’ केवल भाजपा ही नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में असम को भ्रष्टाचार, उग्रवाद और प्रदूषण मुक्त बना सकती है. असम के सभी समुदायों के राजनीतिक अधिकार, संस्कृति और भाषा भाजपा सरकार में सुरक्षित हैं. प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सिर्फ भाजपा ही असम को भ्रष्टाचार, आतंकवाद और प्रदूषण मुक्त बना सकती है. Also Read - UP Election 2022: अमित शाह ने कैराना से शुरू किया प्रचार, पलायन के मुद्दे का ज़िक्र कर BJP के लिए मांगे वोट

बता दें असम में इस साल विधानसभा चुनाव (Assam Assembly Election 2021) होने हैं. असम में चुनावी तैयारियां बीजेपी (BJP) ने शुरू कर दी हैं.