हैदराबाद: केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि एक दिसंबर को होने वाले ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव में अगर उनकी पार्टी जीत हासिल करती है तो हैदराबाद को वैश्विक आईटी केन्द्र बनाया जाएगा तथा ‘निजाम संस्कृति’ खत्म की जाएगी. उन्होंने चुनाव के बाद महापौर के पद पर भाजपा उम्मीदवार के सत्तासीन होने का भरोसा जताया और कहा कि उनकी पार्टी अगले विधानसभा चुनाव के बाद तेलंगाना में सरकार बनाएगी. Also Read - सुभाषचंद्र बोस के धर्मनिरपेक्ष विचारों के खिलाफ थे RSS के लोग, BJP को जयंती मनाने का अधिकार नहीं: कांग्रेस

जीएचएमसी चुनाव के लिये प्रचार के अंतिम दिन संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शाह ने भाजपा को मौका देने की अपील की. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी हैदराबाद को वैश्विक आईटी केन्द्र बनाने के लिये पूरी तैयारी करेगी. Also Read - अमित शाह ने असम में कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- पहले सेमीफाइनल जीता, अब फाइनल जीतेंगे

शाह ने कहा, ‘मैं हैदराबाद के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम शहर को निजाम संस्कृति से मुक्ति दिलाना चाहते हैं… हम हैदराबाद को एक वैश्विक आईटी केन्द्र और आधुनिक शहर बनाएंगे, जहां किसी का तुष्टीकरण नहीं होगा और न ही किसी के साथ अन्याय होगा.’ Also Read - भाजपा सांसद साक्षी महाराज का विवादित बयान, बोले- नेताजी को कांग्रेस ने मरवाया

इससे पहले उन्होंने कहा कि तेलंगाना के लोग सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) और असदुद्दीन औवेसी की ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के ‘गठजोड़’ से नाराज और आक्रोशित हैं. उन्होंने दावा किया कि हैदराबाद इस बार नगर निकाय चुनाव में भाजपा का महापौर चुनेगा.

यहां पुराने शहर में भाग्यलक्ष्मी देवी मंदिर में दर्शन कर शाह ने कहा कि हैदराबाद के लोग सुशासन चाहते हैं और उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व तथा भाजपा पर विश्वास है. शाह ने टीवी न्यूज चैनलों से कहा, ‘तेलंगाना की जनता ने जिस प्रकार लोकसभा चुनाव (2019 के संसदीय चुनाव) के दौरान मोदी जी का साथ दिया… मुझे लगता है कि बदलाव की शुरुआत हो चुकी है और हैदराबाद नगर निगम अगला पड़ाव है.’

वह ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव के प्रचार के अंतिम दिन सिकंदराबाद में रोड शो कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘…हाल ही में हुई बारिश में हैदराबाद के बाढ़ में डूबने और जिस प्रकार एक पार्टी के आशीर्वाद पर अतिक्रमण फल-फूल रहा है…उससे यहां के लोग टीआरएस और औवेसी के गठजोड़ से नाराज और आक्रोशित हैं.

शाह ने कहा कि लोगों का हुजूम बता रहा है कि हैदराबाद में भाजपा का महापौर बनने वाला है. उन्होंने कहा, ‘हैदराबाद के लोगों को भाजपा को एक मौका देना चाहिये. हम हैदराबाद को निजाम संस्कृति से मुक्त करना चाहते हैं.’ शाह ने कहा कि देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है. उन्होंने कहा कि जहां भी भाजपा जीती है वहां कभी सांप्रदायिक दंगे नहीं हुए.

शाह ने अक्टूबर में भारी बारिश और बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हुए हैदराबाद में राहत कार्यों के लिये कोई केन्द्रीय मदद नहीं मिलने के टीआरएस नेताओं के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर कहा कि केन्द्र ने हैदराबाद को करीब 500 करोड़ रुपये मुहैया कराए. जीएचएमसी चुनाव के लिये एक दिसंबर को चुनाव होने हैं. चार दिसंबर को मतगणना होगी.