कांथी (पश्चिम बंगाल): भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राजनीति में आने के प्रियंका गांधी के फैसले का उपहास उड़ाते हुए मंगलवार को कहा कि किसी एक परिवार द्वारा चलाई जाने वाली सरकार लोगों की सेवा नहीं कर सकती, बल्कि सिर्फ एक मजबूर सरकार ही दे सकती है. शाह ने पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी नीत तृणमूल कांग्रेस सरकार की भी आलोचना की और कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव से राज्य में लोकतंत्र बहाल होगा.

भाजपा अध्यक्ष ने यहां एक रैली में कहा, ‘‘लोकसभा चुनाव के बाद नरेंद्र मोदी फिर से प्रधानमंत्री चुने जाएंगे, लेकिन पश्चिम बंगाल में चुनाव लोकतंत्र बहाल करने के लिए है.’’ सक्रिय राजनीति में आने के प्रियंका के फैसले का उपहास उड़ाते हुए उन्होंने कहा कि एक परिवार द्वारा चलाई जाने वाली सरकार लोगों की सेवा नहीं कर सकती, बल्कि यह सिर्फ एक मजबूर सरकार दे सकती है.

पेरेंट्स को PM मोदी का मंत्र: बच्चों का हाथ मजबूती से थामें, उनकी छोटी उपलब्धियों पर भी मनाएं जश्न

उन्होंने कहा, ‘‘संप्रग के शासनकाल में हमने टूजी जैसे बड़े घोटाले देखे थे. अब तीसरा ‘जी’ (गांधी) भी आ गए हैं…अब हमारे पास प्रियंका जी (गांधी) हैं। फिर घोटाले का आकार क्या होगा?’’ शाह ने कहा, ‘‘इसलिए अब, वी (कांग्रेस) टू जी और तीसरे जी को शामिल कर कहीं अधिक भ्रष्टाचार करना चाहती है.’’