नई दिल्ली: संसद में राम मंदिर ट्रस्ट के गठन के ऐलान के बाद केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने अपने पहले पब्लिक कार्यक्रम में कहा कि आज मैं आनंद से भरा हुआ हूं, अभी अभी मोदी जी ने संसद के अंदर घोषणा कर दी है. अयोध्या की 67 एकड़ जमीन जिसपर 400 सालों से समस्या थी, आज उसका हल हो गया है. मोदी जी ने संसद में घोषणा कर दी है कि पूरी जमीन ट्रस्ट को दी जाएगी.

बुधवार को भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा के घर जाट सम्मेलन को संबोधित कर अमित शाह ने कहा कि कई पीढ़ियां चली गईं, अब तपस्या पूरी हुई. राम मंदिर पर अदालत के फैसले से अब साफ हो गया है कि देश में विचारधारा बदली है. पहले कोई नहीं मानता था कि एक बूंद भी लहू गिरे बिना मंदिर बन सकता है. धारा 370 का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने इस मसले को चुटकी बजाकर खत्म कर किया. जो लोग वोटबैंक की राजनीति करते हैं, उनको ये फैसला पसंद नहीं आएगा, लेकिन हम वोट बैंक की राजनीति नहीं करते.

‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ ट्रस्ट को मंजूरी मिलने पर CM योगी ने जताया आभार, ट्वीट कर कही ये बात

मुसलमान भाइयों को डरने की जरूरत नहीं: अमित
उन्होंने कहा कि 10 साल तक मनमोहन और सोनिया की सरकार थी, उस समय कोई भी भारत में घुस जाता था. लेकिन अब ऐसा नहीं होता है. जाट नेताओं को भाजपा के लिए वोट करने के लिए अपील करते हुए अमित शाह ने कहा कि आपके वोट ने पश्चिमी उत्तरप्रदेश में विपक्ष का सूपड़ा साफ कर दिया और अब 56 इंच की सीने वाली मोदी सरकार है. जो हमारा विरोध वे कर रहे हैं जो तुष्टीकरण की राजनीतिक कर रहे हैं. नागरिकता कानून पर शाह ने एक बार फिर अपील की कि मुसलमान भाइयों को डरने की जरूरत नहीं है, किसी की भी नागरिकता नहीं जाएगी. नागरिकता उन लोगों को दी गई है, जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बंगलादेश में प्रताड़ित हुए. हम इस फैसले पर अडिग है.

VHP को उम्‍मीद, राम जन्मभूमि पर उसी मॉडल का मंदिर बनेगा, जो पहले से तैयार है

आम आदमी पार्टी पर लगाया ये आरोप
गृहमंत्री ने एक बार फिर आम आदमी पार्टी (आप) पर आरोप लगाया कि आप और कांग्रेस ने दिल्ली में दंगे करवाए. शाह ने केजरीवाल पर तंज कसते हुए कहा कि वे कहते हैं, हम शाहीनबाग के साथ हैं. उसका सीधा सा जबाव है, कमल के बटन को गुस्से से दबाएं, ताकि शाहीनबाग तक इसका मैसेज जाए. सभा में अमित शाह ने लोगों से नारे लगवाए- “आम आदमी पार्टी का वोट कौन है?” जवाब में लोगों ने कहा, “मुसलमान.” इसके बाद उन्होंने लोगों से अपील की कि वे 8 फरवरी को मौके का सही उपयोग करें.