नई दिल्ली: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को दावा किया कि 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में इंडियन एयरफोर्स की ओर से की गई एयर स्ट्राइक में 250 आतंकवादी मारे गए. एक कार्यक्रम के दौरान अमित शाह ने कहा, उरी हमले के बाद आर्मी ने सर्जिकल स्टाइक की. पुलवामा हमले के बाद लोगों ने कहना शुरू कर दिया कि हाई लेवल अलर्ट के कारण सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हो सकता लेकिन जवानों की शहादत के 13वें दिन नरेंद्र मोदी सरकार ने एयर स्ट्राइक कर दिया. बिना किसी नुकसान के 250 आतंकवादी मारे गए.

जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को आतंकी घोषित करने का पाकिस्तान नहीं करेगा विरोध?

लक्ष्य जीतो कार्यक्रम में अमित शाह ने कहा, जब (विंग कमांडर) अभिनंदन वर्थमान पाकिस्तान में पकड़े गए तो विपक्ष ने फिर से शोर मचाना शुरू कर दिया, लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार का प्रभाव ऐसा था कि दुनिया में पहली बार इतने कम समय में एक पीओडब्ल्यू जारी किया गया … अभिनंदन को 48 घंटों के भीतर रिहा कर दिया गया. शाह ने कहा कि भारत अपने सशस्त्र बलों पर हमलों का बदला लेने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका और इजरायल के बाद दुनिया का तीसरा देश बन गया है.

एयर स्ट्राइक के बाद फिर चली समझौता एक्सप्रेस, सिर्फ 12 लोगों ने की यात्रा

वहीं सूरत में एक कार्यक्रम के दौरान अमित शाह ने सशस्त्र बलों के साहस पर ‘शक’ करने और भारतीय वायु सेना के हवाई हमले का सबूत मांगने पर रविवार को विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधा और कहा कि उनके ऐसे बयान पाकिस्तान के चेहरे पर ‘मुकुराहट’ लाए. शाह ने कहा कि अगर ये पार्टियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश के सशस्त्र बलों द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर हवाई हमले के जरिए हासिल की गई उपलब्धि की प्रशंसा नहीं कर सकतीं तो उन्हें ‘चुप रहना’ चाहिए.

पीएम मोदी आज से दो दिवसीय गुजरात दौरे पर, मेट्रो का उद्घाटन करेंगे, मंदिर की नींव रखेंगे

प्रधानमंत्री के नेतृत्व की सराहना करते हुए, शाह ने दावा किया कि मोदी ने अपना नियमित कार्य जारी रखा और इस दौरान वह 14 फरवरी को पुलवामा हमले के गुनाहगारों को सजा देने के बारे में भी योजना तैयार करते रहे. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 कर्मियों की मौत हो गई थी. उन्होंने दावा किया कि मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक और हवाई हमले का आदेश देकर देश को समझाया कि आतंक को ‘कतई बर्दाश्त’ नहीं करने का मतलब क्या होता है.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी चाहते हैं देश में मानव मूत्र का भंडारण हो, जानें क्यों

शाह ने कहा, ‘विपक्षी नेता यह नहीं जानते हैं कि क्या हुआ. ममता दी ने सबूत मांगा है. राहुल बाबा कह रहे हैं कि इसका राजनीतिकरण किया जा रहा है. अखिलेश ने जांच की मांग की है. शर्म आनी चाहिए कि आपके बयान पाकिस्तान के चेहरे पर मुस्कुराहट लाए है. भाजपा अध्यक्ष ने दावा किया कि, ‘पाकिस्तान विपक्षी नेताओं की प्रेस वार्ता के बाद मुस्कुराया जिसमें नेताओं ने सशस्त्र बलों के साहस पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा, ‘हम समझ सकते हैं कि आपमें मोदी जी जैसा साहस नहीं है, लेकिन अगर आप मोदी जी और सशस्त्र बलों द्वारा किये गए कार्य की प्रशंसा नहीं कर सकते तो कम से कम चुप ही रहिए.