नई दिल्ली: अभी कुछ दिन पहले नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर बीजेपी ने एक टोल फ्री नंबर 8866288662 जारी किया था. लेकिन इस नंबर को प्रमोट करने के लिए लोग सोशल मीडिया पर गलत तरह की जानकारी दे रहे हैं. जिसके बाद से विपक्ष इसको लेकर बीजेपी का मजाक बना रहा है. ट्विटर पर किसी ने बीजेपी के इसी टोल फ्री नंबर को शेयर करते हुए इसे नेटफ्लिक्स का बता दिया और कहा कि इस पर कॉल करने से उसे नेटफ्लिक्स का 6 महीने के लिए सब्सक्रिप्शन फ्री में मिल जाएगा. हालांकि अब इस पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में एक रैली को संबोधित करते हुए सफाई दी है. उन्होंने कहा कि नागरिकता कानून के समर्थन के लिए बीजेपी ने एक नंबर जारी किया है. यह नंबर समर्थन देने के लिए है किसी कंपनी की मुफ्त सुविधा के लिए नहीं.

गृह मंत्री ने कहा, ”एक नंबर को लेकर अफवाह फैली हुई है. कुछ लोग सोशल मीडिया पर इसे नेटफ्लिक्स का नंबर बता रहे हैं. उनका कहना है कि इसपर मिसकॉल करने से नेटफ्लिक्स का सब्सक्रिप्शन फ्री मिलेगा. ऐसा कुछ नहीं है. यह नंबर नागरिकता कानून के समर्थन को लेकर जारी किया गया है.” शाह ने कहा, “मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि नंबर कभी भी नेटफ्लिक्स का नहीं था, बल्कि यह भाजपा का टोल फ्री नंबर है.”


हालांकि इससे पहले खुद नेटफ्लिक्स इंडिया ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस बात को स्पष्ट कर दिया था कि ये नंबर उनका नहीं है और इसको लेकर कही जा रही बातें झूठी हैं कि इस पर कॉल करने से नेटफ्लिक्स का 6 महीने के लिए सब्सक्रिप्शन फ्री में मिल जाएगा.

गौरतलब है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर सार्वजनिक धन को विज्ञापन एवं लोगों को गुमराह करने में खर्च करने का आरोप लगाते हुए रविवार को पूछा कि दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने पिछले पांच वर्षो में कितने काम पूरे किये हैं.