जयपुर. राजस्थान के विधानसभा चुनावों को 2019 के लोकसभा चुनाव का ट्रेलर बताते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से इसके लिए पूरी लगन के साथ जुट जाने की अपील की. साथ ही, उन्होंने राजस्थान में भाजपा की सरकार को अंगद का पांव बताते हुए कहा कि राज्य में इसे कोई उखाड़ नहीं सकता. Also Read - कोरोना से उबरे गृह मंत्री अमित शाह, लोकसभा की कार्यवाही में भाग ले सकते हैं

शाह ने कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने भारतीय सेना को विश्व में सबसे आधुनिक सेना बनाने के लिये 15 साल का एक खाका बनाया है. सरकार ने सेना को अत्याधुनिक संचार प्रणाली और हथियारों से लैस कर उसका मनोबल उंचा करने का काम किया है जबकि कांग्रेस ने सेना का मनोबल पाताल में पहुंचा दिया. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर भाजपा ने हमेशा ही वोट की राजनीति से उपर उठकर बात की है. शाह ने दोहराया कि भाजपा सरकार किसी भी अवैध बांग्लादेशियों को भारत में नहीं रहने देगी. Also Read - गृह मंत्री अमित शाह की एम्स से छुट्टी, स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के बाद हुए थे भर्ती

चुन-चुन कर बांग्लादेशी घुसपैठियों को निकाल देंगे
उन्होंने एनआरसी लागू करने के लिये मोदी सरकार की प्रतिबद्वता को दोहराते हुए कांग्रेस पर देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया. इससे पहले शक्ति केंद्र सम्मेलन को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, ‘भाजपा का संकल्प है कि एक भी बांग्लादेशी घुसपैठिया को भारत में रहने नहीं देंगे, चुन-चुन कर निकाल देंगे.’ राज्य में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं. उन्होंने कि राज्य में पार्टी की पहुंच हर बूथ तक है. Also Read - पीएम मोदी का जन्मदिन आज, गुजरात में कई योजनाओं की होगी शुरुआत, अमित शाह करेंगे समारोह में शिरकत

शहरी माओवादियों पर ये कहा
साथ ही शाह ने दोहराया कि अगर 2019 का चुनाव भाजपा जीत लेती है तो ‘पचास साल तक पंचायत से संसद तक भाजपा को कोई हरा नहीं सकेगा. बाद में प्रबुद्धजनों के साथ बैठक में शाह ने ‘शहरी माओवादियों’ को दी गयी आजादी पर सवाल उठाया. शाह ने कहा कि जेएनयू में राष्ट्रविरोधी नारे लगाए जाने को अभिव्यक्ति की आजादी नहीं कहा जा सकता. उन्होंने कहा कि देश को टुकड़ों में बांटने की बात करने वालों को सलाखों के पीछे डाला जाएगा.

नेशनल हेराल्ड पर कांग्रेस को घेरा
भाजपा अध्यक्ष ने नेशनल हेराल्ड मामले का भी जिक्र किया और कहा कि इस मामले में अदालत ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की याचिका खारिज कर दी है. शाह ने गठबंधन की राजनीति पर भी एक तरह से कटाक्ष किया और कहा कि इससे देश के विकास माडल को मदद नहीं मिली. उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री राजे आज शाह के किसी भी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुईं. वह अपनी राजस्थान गौरव यात्रा के तहत चुरू में थी जहां उन्होंने सभाओं को संबोधित किया और अपनी सरकार के कार्यों को रेखांकित किया.