नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार भाजपा के बड़े नेताओं का पश्चिम बंगाल में जमावड़ा लगने वाला है. दरअसल, दिल्ली के बाद भाजपा ने अब पश्चिम बंगाल में होने वाले हर चुनाव को संजीदगी से लड़ने का फैसला किया है. लिहाजा विधानसभा चुनाव के साथ ही भाजपा ने स्थायीय नगर निगम चुनाव के लिए भी रणनीति बनानी शुरू कर दी है. ऐसे में कोलकाता, हावड़ा नगर निगम समेत स्थानीय नगरपालिकाओं के चुनाव से पहले कोलकाता के शहीद मीनार में आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एक बड़ी रैली को संबोधित करने जा रहे हैं. इस रैली में संगठन महासचिव बीएल संतोष भी मौजूद रहेंगे. रैली में भाजपा के बड़े नेताओं के निशाने पर ममता बनर्जी रह सकती है. Also Read - ममता बनर्जी के कथित ऑडियो क्लिप को लेकर BJP और TMC में तकरार, छिड़ी जुबानी जंग

दिल्ली सरकार कर रही नफरत भरे संदेशों की शिकायत के लिए WhatsApp नंबर शुरू करने पर विचार Also Read - West Bengal Assembly Elections 2021: PM मोदी का CM ममता पर हमला, ''लाशों पर राजनीति करना दीदी की पुरानी आदत''

भाजपा के सूत्रों ने बताया कि शाह रविवार सुबह राजारहाट में एनएसजी के एक परिसर के उद्घाटन के बाद सीएए के समर्थन में महानगर के शहीद मीनार इलाके में एक रैली को संबोधित करेंगे. उसके बाद वह स्थानीय निकाय चुनावों की रणनीति पर भाजपा नेताओं के साथ बैठक भी करेंगे. Also Read - West Bengal Assembly Election 2021 Live Updates: पश्चिम बंगाल में 5वें चरण की वोटिंग जारी, वोटर्स उमड़े

इससे पहले शनिवार को शाह ने ओडिशा के पुरी स्थित श्री जगन्नाथ मंदिर में भगवान के दर्शन कर पूजा-अर्चना की. गृहमंत्री बनने के बाद शाह पहली बार जगन्नाथ मंदिर पहुंचे थे. गृहमंत्री बनने के बाद उन्होंने पहली बार इस जगह का दौरा किया, जिसके बारे में उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “पुरी में होना हमेशा ही खास होता है. महाप्रभु जगन्नाथ का आशीर्वाद लिया.” गृहमंत्री बाद में ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर गए, जहां उन्होंने भगवान शिव को समर्पित लिंगराज मंदिर का दौरा किया.