नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव का कार्यक्रम भले ही अभी घोषित नहीं हुआ है, मगर भाजपा का चुनाव अभियान आक्रामक हो चला है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इसी क्रम में रविवार को 30 हजार से अधिक बूथस्तरीय कार्यकर्ताओं को चुनाव जीतने का मंत्र देंगे. Also Read - Nationwide Lockdown: क्या कोरोना पर काबू पाने के लिए फिर लगेगा 'संपूर्ण लॉकडाउन'? अमित शाह ने दिया यह जवाब...

भाजपा अमित शाह हर चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं को ‘बूथ जीतो-चुनाव जीतो’ का खास टिप्स देते हैं. अमित शाह इस सम्मेलन के जरिए विधानसभा चुनाव में 51 प्रतिशत वोट शेयर पाने का कार्यकर्ताओं को लक्ष्य देंगे, ताकि आप-कांग्रेस में गठबंधन होने की स्थिति में भी भाजपा पर असर न पड़े. शाह रविवार साढ़े 11 बजे से इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम में बूथस्तरीय कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे. उनके साथ कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू, प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी सहित अन्य प्रमुख नेता मौजूद रहेंगे. Also Read - बंगाल में भाजपा के सत्ता में आने के बाद गोरखा समस्या का समाधान हो जाएगा: अमित शाह

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, इस सम्मेलन में अमित शाह सभी बूथ प्रभारियों को अपने बूथ पर 51 प्रतिशत वोट हासिल करने का लक्ष्य देंगे. शाह हर चुनाव से पहले बूथस्तरीय कार्यकर्ताओं के सम्मेलनों में इस बात पर जोर देते रहे हैं कि जीत की सीढ़ी बूथ से शुरू होती है. अगर हर बूथ प्रभारी अपने बूथ पर पार्टी को आगे रखने में सफल रहे तो जीत सुनिश्चित है. Also Read - West Bengal Polls: PM मोदी का ममता बनर्जी पर हमला, 'बंगाल में गवर्नेंस के नाम पर दीदी ने किया बड़ा गड़बड़झाला'

पार्टी की दिल्ली इकाई के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि जिस तरह से लोकसभा चुनाव में अध्यक्ष अमित शाह ने 51 प्रतिशत वोट शेयर पर फोकस कर यूपी जैसे राज्य में सपा-बसपा गठबंधन के बावजूद पार्टी को बंपर जीत दिलाई, उसी तर्ज पर दिल्ली में भी चुनाव लड़ने की तैयारी है. भाजपा चाहती है कि हर सीट पर उसे इतना वोट मिले कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को मिले कुल वोट से भी ज्यादा फासला हो.