नई दिल्ली: केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आठ फरवरी को होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव को दो ‘विचारधाराओं’ का मुकाबला करार देते हुए कहा कि चुनाव नतीजे सबको चौंका देंगे. शाह ने पूर्वी दिल्ली के कोंडली में एक चुनाव सभा में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर हमले जारी रखते हुए कहा कि उन्होंने अपनी ‘वोटबैंक’ की राजनीति के डर से संशोधित नागरिकता कानून, अयोध्या में राम मंदिर और अनुच्छेद 370 के प्रावधान हटाने जैसे मुद्दों पर भाजपा का विरोध किया.

BJP ने AAP पर लगाया दिल्ली चुनाव को बाधित करने की ‘साजिश’ का आरोप, चुनाव आयोग से की मुलाकात

उन्होंने भीड़ से पूछा कि ‘क्या आप उनका वोटबैंक हैं’ तो जवाब आया नहीं. फिर उन्होंने पूछा कि ‘उनका वोटबैंक कौन है’ तो जवाब मिला, ‘शाहीन बाग’. उन्होंने दावा किया, ‘मैं आपका फैसला जानता हूं. 11 फरवरी को नतीजे सबको चौंका देंगे. उन्होंने कहा कि दिल्ली का चुनाव दो दलों के बीच का चुनाव नहीं है. आपको दो विचारधाराओं शाहीन बाग का समर्थन करने वाले राहुल बाबा और केजरीवाल एंड कंपनी या फिर देश को सुरक्षित बनाने वाले मोदी में से एक को चुनना है.

केजरीवाल को आतंकवादी कहने पर BJP MP प्रवेश वर्मा पर EC सख्त, प्रचार करने पर लगाई इतने दिन की रोक

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आठ फरवरी को मतदान होना है. नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.