बेंगलुरू: कर्नाटक दौरे के दौरान राज्य की सिद्दारमैया सरकार पर हमला बोलते बोलते बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गलती से अपनी ही पार्टी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार बी एस येदियुरप्पा को सबसे भ्रष्ट मुख्यमंत्री बता दिया. ये वाक्या तब हुआ जब अमित शाह जब बेंगलुरू में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे. अमित शाह ने जैसे ही येदियुरप्पा सरकार को सबसे भ्रष्ट सरकार बताया वैसे ही उनके साथ बैठे बीजेपी के एक नेता ने उन्हें उनकी गलती का अहसास कराया. अमित शाह ने भी तुरंत अपनी गलती सुधारी और कहा कि उनका अर्थ कांग्रेस की सिद्दारमैया की सरकार से था लेकिन तब तक वीडियो में उनकी बात कैद हो चुकी थी जो सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रही है. Also Read - West Bengal Assembly Election: कांग्रेस का ममता बनर्जी को बड़ा ऑफर, कहा- पश्चिम बंगाल में मिलकर चुनाव लड़े TMC, बीजेपी से...

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अमित शाह कर्नाटक की सिद्धारमैया सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कांग्रेस की आलोचना कर रहे थे. इस दौरान शाह ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज ने कहा है कि यदि भ्रष्टाचार में कोई प्रतिस्पर्धा कर ली जाए तो येदियुरप्पा सरकार को भ्रष्टाचार में पहला स्थान मिल जाएगा.’ अमित शाह के येदियुरप्पा सरकार को सबसे भ्रष्ट सरकार बताने पर कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने जमकर तंज किया. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस मामले पर बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने ट्वीट किया, ‘अब क्योंकि बीजेपी आईटी सेल ने कर्नाटक चुनाव की घोषणा कर दी है तो टॉप सीक्रेट कैंपेन वीडियो भी देख लिया जाए. यह बीजेपी अध्यक्ष की ओर से तोहफा है. कर्नाटक में हमारे कैंपेन की अच्छी शुरुआत हुई है. वह कहते हैं कि येदियुरप्पा ने अब तक की सबसे भ्रष्ट सरकार चलाई है.’ Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, राहुल-प्रियंका भी हुए शामिल, कहा- पूंजीपतियों को फायदा पहुंचा रही बीजेपी

दक्षिण भारत में कर्नाटक ही वो राज्य था जहां पहली बार 2008 में बीजेपी की सरकार बनी थी और बी एस येदियुरप्पा इसके मुख्यमंत्री थे लेकिन अगस्त 2011 में कर्नाटक के लोकायुक्त संतोष हेगड़े द्वारा लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों पर सिद्दारमैया को इस्तीफा देना पड़ा था. बीजेपी ने येदियुरप्पा को कर्नाटक में अपना मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित कर रखा है. येदियुरप्पा लिंगायत समुदाय से आते हैं जो कर्नाटक में काफी मजबूत माना जाता है. अमित शाह के बयान पर कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने भी ट्वीट करते हुए लिखा, ”आखिरकार अमित शाह ने सच बोल ही दिया, अमित शाह को शुक्रिया”.

इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष शाह ने कर्नाटक की सिद्दारमैया सरकार पर आरोप लगाया कि वह हिंदुओं को बांटने की कोशिश कर रही है और देश में सबसे भ्रष्ट सरकारों में शामिल है. कर्नाटक की दो दिवसीय यात्रा पर आए अमित शाह ने कहा कि लिंगायतों और वीरशैव लिंगायतों को धार्मिक अल्पसंख्यक का दर्जा देने का राज्य सरकार का कदम हिंदुओं को बांटने की कोशिश है.

शाह ने कहा कि यह वीरशैव और लिंगायत समुदायों की बेहतरी के लिए उठाया गया कदम नहीं है बल्कि बी एस येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री बनने से रोकने की साजिश है. उन्होंने कहा, लिंगायत समुदाय इसे समझता है और मुझे यकीन है कि कर्नाटक के लोग बैलेट के जरिए इसका जवाब देंगे.

कर्नाटक कैबिनेट ने हाल में केंद्र सरकार से सिफारिश की है कि लिंगायतों और वीरशैव लिंगायतों को धार्मिक अल्पसंख्यक का दर्जा दिया जाए. राज्य सरकार के इस कदम को भाजपा के वोट बैंक में सेंध लगाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है.