नई दिल्ली: दिल्ली में चुनाव प्रचार के दूसरे दिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और राहुल गांधी पर हमला जारी रहा. दिल्ली के सोनिया विहार के करावल नगर में एक नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि केजरीवाल और राहुल गांधी की पार्टी शाहीन बाग जैसी घटनाओं को शह दे रही है, इसकी वजह से दिल्ली में दंगे जैसा माहौल पैदा हो रहा है.

अमित शाह का कहना था कि गुरुवार को ही दिल्ली के सीएम और डिप्टी सीएम ने कहा की वो शाहीन बाग के साथ खड़े हैं. ऐसे में साफ है कि ‘जो देश की सुरक्षा को खतरे में डाल सकता है वो दिल्ली को कैसे संभाल सकता है. रैली में मोदी सरकार का बखान करते हुए अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने 60 करोड़ गरीबों को फायदा पहुंचाया है. हमारी सरकार ने वादा किया है कि पांच साल के अंदर देश के सभी घरों में शुद्ध पानी जो मिनरल वाटर जैसा होगा, पहुंचा देंगे. दिल्ली में अशुद्ध पानी की सप्लाई का दावा करते हूए अमित शाह ने कहा कि यहां पानी में फ्लोराइड की मात्रा काफी अधिक है जिसकी वजह से तरह-तरह की बीमारी हो रहीं हैं.

उन्होंने केंद्रीय योजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि हमने 1731 अनाधिकृत कॉलोनियों को अधिकृत किया है और प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दिल्ली में जहां झोपड़ी, वहां मकान योजना लागू की जाएगी. इससे आप पक्के मकान के भागीदार बनेंगे. केजरीवाल और राहुल गांधी पर आरोप लगाते हुए अमित शाह ने कहा कि ये लोग देश में दंगा कराना चाहते हैं. ये लोग नागरिकता कानून पर देशभर में भ्रम और अफवाह का वातावरण बना रहे हैं. भला वह देश को सुरक्षित कैसे रखेंगे. उन्होंने केजरीवाल से पूछा कि क्या उनको पता है कि दिल्ली की एक तिहाई आबादी शरणार्थी के रूप में भारत पाक विभाजन के बाद दिल्ली आई थी. ऐसे में अगर पाकिस्तान अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए शरणार्थियों को नागरिकता दे रहे है तो उसमें गलत क्या है.

जवाहरलाल यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा पर शाह ने कहा कि जो लोग जेएनयू में भारत तेरे टुकड़े होंगे वाली गैंग में शामिल थे, उनको हमारी सरकार ने सलाखों के पीछे भेजने का प्रयास किया. लेकिन मुकदमा चलाने के लिए केजरीवाल सरकार परमिशन नहीं दे रही है. राम मंदिर पर शाह ने कहा कि 4 महीने के भीतर भव्य राम मंदिर बना दिया जाएगा. उन्होंने आरोप लगाया कि राम मंदिर का मसला हो या फिर धारा 370, सभी सवाल पर केजरीवाल और राहुल गांधी की पार्टी विरोध करती रही है. यहां तक की राम मंदिर पर चल रहे मुकदमे के दौरान कांग्रेस और उनके वकील नेता तरह तरह की दलील देकर इस मामले को लटकाने का प्रयास करते रहे लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली.

सोनिया विहार की सभा मे अमित शाह ने पूछा कि क्या केजरीवाल जी बता पायेंगे कि 15000 सीसीटीवी लगाने का वादा आपने किया था, वह कहां है? तीन हजार बसें लाने का वादा किया गया था, सिर्फ 300 क्यों लाए. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के स्कूलों की स्थिति दयनीय है. नौवीं की कक्षा में से 75000 छात्रों को इसलिए फेल कर दिया गया क्योंकि उनकी पढ़ाई ठीक नहीं थी. अभी भी दिल्ली के स्कूलों में 19000 शिक्षकों की कमी है. ऐसे में यह बेहतर शिक्षा कैसे दे पाएंगे. शाह ने कहा कि जो लोग वोट बैंक की लालच में देश की सुरक्षा, देश का सम्मान, देश के जवान के साथ खिलवाड़ कर सकते हैं, उन्हें वोट मांगने का अधिकार नहीं है.