नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के कहर के बीच अम्फान तूफान आज दोपहर पश्चिम बंगाल व उड़ीसा में दस्तक देने वाला है. NDRF समेत कई एजेंसियां लोगों को सुरक्षित इस खतरे से बाहर निकालने के लिए तैनात हैं. इस भयानक तूफान के मद्देनजर इन दोनों राज्यों को हाईअलर्ट पर रखा गया है. मौसम विभाग की मानें तो जब अम्फान तूफान पश्चिम बंगाल और उड़ीसा के तटों से टकराएगा तो उस वक्त तूफान की रफ्तार 200 किमी प्रतिघंटा हो सकती है. इस लिए इन राज्यों को अलर्ट पर रखा गया है साथ ही दोनों राज्यों के किन जिलों में यह तूफान भारी तबाही मचाने वाला है. बता दें कि इस तूफान को सदी का सबसे खतरनाक तूफान बताया जा रहा है. आज इस बारे में हम आपको बताने वाले हैं.Also Read - मेघालय के राज्‍यपाल सत्यपाल मलिक का बयान, किसानों की नहीं सुनी तो यह सरकार दोबारा नहीं आएगी

अगर ओडिशा की बात करें तो यहां पुरी, कटक, खोरड़ा, मयूरभंज, भद्रक, जाजपुर, बालासोर, जगतसिंहपुर, केंद्रपा में तेज बारिश की संभावना जताई गई है. लेकिन बालासोर, जाजपुर, मयूरभंज और भद्रक जिलों में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है. वहीं पश्चिम बंगाल की बात करें तो यहां नॉर्थ 24 परगना, ईस्ट मिदनापुर, दीघा में तेज बारिश की संभावना जताई गई है. साथ ही हावड़ा, कोलकाता, हुगली और इसके आसपास के इलाकों में अम्फान तूफान के मद्देनजर अलर्ट जारी किया गया है. Also Read - बांग्लादेश में हिंदुओं पर हमले! एक्शन में आई ममता सरकार, जिला प्रशासन को दिया ये निर्देश

बता दें यह तूफान सिर्फ ओडिशा या पश्चिम बंगाल ही नहीं नॉर्थ-ईस्ट के कई राज्यों के लिए भी खतरा बन सकते हैं. सिक्किम राज्य की बात करें तो यह तूफान पश्चिम बंगाल के रास्ते सिक्किम में घुस सकता है. इस लिहाज से यहां प्रशासन को अलर्ट कर दिया गया है. साथ ही असम मेघालय को लेकर मौसम विभाग का कहना है कि 20-21 मई के बीच राज्य के कई हिस्सों में तेज बारिश की संभावना भी है साथ ही आंधी-तूफान भी आ सकता है. Also Read - Uttarakhand Red Alert: चमोली भारी बारिश के बाद रेड अलर्ट हुआ जारी, चारधाम यात्रा पर लगी रोक