नई दिल्ली: गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से बात की और अमृतसर में एक धार्मिक समागम में हुए ग्रेनेड हमले के बाद उत्पन्न स्थिति का जायजा लिया. रविवार को हुए इस हमले में तीन लोगों की मौत हो गई. राजनाथ ने इस घटना को अंजाम देने वाले लोगों के खिलाफ यथासंभव कड़ी कार्रवाई करने का भी संकल्प लिया. उन्होंने ट्वीट किया कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर जी से बात की, जिन्होंने मुझे अमृतसर में ग्रेनेड हमले के बाद की स्थिति के बारे में अवगत कराया. इस घटना के दोषियों के खिलाफ यथासंभव कड़ी कार्रवाई की जाएगी.’ गृह मंत्री ने कहा कि अमृतसर में ग्रेनेड हमले में निर्दोष लोगों के मारे जाने से वह बहुत आहत हैं. राजनाथ ने कहा,‘यह एक निंदनीय हिंसक कृत्य है. इस हमले में अपने प्रियजनों को खो चुके परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं है और मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: राजनाथ सिंह का कांग्रेस पर हमला, बोले- अगर मैंने खुलासा कर दिया तो चेहरा दिखाना मुश्किल हो जाएगा

Also Read - अगर हमारी सीटें ज्‍यादा भी आती हैं, तब भी नीतीश कुमार जी ही हमारे नेता होंगे: बीजेपी अध्‍यक्ष

अमृतसर में पगड़ीधारी दो युवकों ने फेंका ग्रेनेड, हमले के पर्याप्त सुराग: गृह मंत्रालय Also Read - India China Bilateral Issue: सीमा विवाद पर बोले रक्षा मंत्री- देश की रक्षा के लिए भारतीय सैनिक दृढ़ता से सीमा पर डटे हैं

चेहरा ढंके दो हथियारबंद हमलावरों ने फेंका ग्रेनेड

बता दें कि पंजाब के अमृतसर में रविवार को एक धार्मिक समागम पर पगड़ीधारी दो युवकों ने हथगोला फेंका जिससे तीन लोगों की मौत हो गई एवं कम से कम 10 अन्य घायल हुए. गृह मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, पंजाब पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने जांच शुरू कर दी है, लेकिन अभी किसी निष्कर्ष पर पहुंचना जल्दबाजी होगा. अधिकारियों के मुताबिक, इस मामले में पर्याप्त सुराग हैं और जांच सही दिशा में बढ़ रही है. कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि चेहरा ढंके दो हथियारबंद लोगों ने प्रवेश द्वार पर ड्यूटी दे रही एक महिला श्रद्धालु पर बंदूक तानकर उसे भवन की ओर चलने के लिए मजबूर किया. एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा, ”प्रवेश करने के बाद उन्होंने भीड़ पर एक ग्रेनेड फेंका और भाग गए.’

अमृतसर के निरंकारी भवन में सत्संग के दौरान ग्रेनेड से हमला, तीन की मौत, 15 घायल

एक ग्रेनेड फेंका, दोनों हमलावरों के पास पिस्‍टल थी

घटनास्थल का निरीक्षण करने वाले पुलिस महानिरीक्षक एस एस परमार ने पत्रकारों से कहा, ”एक ग्रेनेड फेंका गया और घटना में तीन लोग मारे गए जबकि 10 लोग घायल हो गए, जिनमें से दो गंभीर रूप से घायल हैं. ” प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से आईजी ने बताया कि दोनों आरोपियों के पास पिस्‍टल थी और ग्रेनेड फेंकने के बाद वे घटनास्थल से फरार हो गए. आरोपियों को पकड़ने के लिए खोज अभियान चलाया गया है. उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच के अनुसार, घटना के समय करीब 200 लोग सभागार में मौजूद थे. परिसरों में कोई सीसीटीवी नहीं लगा है.