नई दिल्‍ली: रात से लेकर सुबह तक देश के दो राज्‍यों में भूकंप आया है. एक ओर रात गुरुवार-शुक्रवार की दरम्‍यानी रात को करीब 12.26 मिनट पर जहां महाराष्‍ट्र के पालघर में 3.1 तीव्रता का भूकंप आया, वहीं, आज शुक्रवार को सुबह 5:11 बजे जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्वी कटरा में 3.0 तीव्रता का भूकंप आया. Also Read - Maharashtra Local News: महाराष्ट्र सरकार ने 7.2 लाख ऑटो रिक्शा चालकों को दी बड़ी राहत, 108 करोड़ रुपये किए आवंटित

जम्‍मू-कश्‍मीर में जहां भकंप आया है, वह जगह पूर्वी कटरा से 89 किमी पूर्व में है. Also Read - इन दस राज्यों में कोविड-19 के 71 फीसदी से ज्यादा नए मामले, महाराष्ट्र और कर्नाटक सबसे आगे

नेशनल सेंटर फॉर सिस्‍मोलॉजी (NCS) ने यह जानकारी दी है. हालाकि हल्‍के भूकंप से कहीं- कोई नुकसान की कोई खबर सामने नहीं आई है. पिछले कुछ महीनों से देश के कई इलाकों खासकर, दिल्‍ली-एनसीआर, कश्‍मीर, गुजरात, महाराष्‍ट्र और उत्‍तर-पूर्वी राज्‍यों में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं.

बता दें कि मिजोरम के चार जिलों चंफाई, सईतुआल, सईहा और सेरछिप में 18 जून से लेकर अब तक कुल 22 बार भूकंप आ चुके हैं जिनकी तीव्रता 4.2 से 5.5 के बीच दर्ज की गई थी. इन जिलों में चंफाई सबसे अधिक प्रभावित हुआ था.

मिजोरम में कई जगह लोग तंबू लगाकर रह रहे हैं
मिजोरम में इस महीने कई बार भूकंप के झटके महसूस किए जाने के बाद म्यांमार की सीमा से लगे चंफाई जिले में लोग अपने घरों से बाहर अस्थायी तंबू लगाकर रह रहे हैं. चंफाई जिला उपायुक्त मारिया सी टी जुआली ने बताया कि कई गांवों में लोगों ने अस्थायी तंबू बनाए हैं और जिला प्रशासन ने उन्हें तिरपाल, पानी के बैरल, सोलर लैंप और प्राथमिक चिकित्सा किट मुहैया कराया है. बूढ़े लोगों को बिस्कुट और सोराजो (फुड सप्लिमेंट) भी दी जा रही है. उपायुक्त के अनुसार, एक महीने में लगभग 20 भूकंपों से चंफाई जिला प्रभावित हुआ है. भूकंप से 16 से अधिक गांव प्रभावित हुए हैं जिनमें गिरजाघर और सामुदायिक हॉल सहित 170 से अधिक घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं.