अमरावती: आंध्र प्रदेश विकेंद्रीकरण एवं सभी क्षेत्रों का समावेशी विकास विधेयक, 2020 पर मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी के संबोधन को बाधित करने के लिए सोमवार को विपक्षी तेलगू देशम पार्टी के 17 विधायकों को विधानसभा से निलंबित कर दिया गया है. सदन में उस समय गतिरोध पैदा हो गया, जब तेदेपा विधायक सभापति के आसन के समीप आ गए और नारे लगाने लगे तथा अपने नेता एन चंद्रबाबू नायडू को बोलने की अनुमति देने की मांग कर रहे थे.

इससे झल्लाए जगन ने सभापति से हाउस मार्शल बुलाने और विपक्षी सदस्यों को बाहर निकालने के लिए कहा. विधायी मामलों के मंत्री बुग्गाना राजेंद्रनाथ ने 17 तेदेपा विधायकों को निलंबित करने के लिए प्रस्ताव रखा जिसे ध्वनिमत से पारित कर दिया गया. TDP विधायकों में अत्चन्नायडू और एन चाइना राजप्पा शामिल थे.

इसके बाद मार्शलों ने सदन में प्रवेश किया और TDP विधायकों को बाहर ले जाने लगे. इस दौरान TDP विधायकों ने प्रतिरोध किया, जिससे अफरातफरी मच गई. इसके बाद उन्हें बलपूर्वक बाहर ले जाया गया और फिर मुख्यमंत्री ने अपना भाषण आगे बढ़ाया. बाद में विपक्ष के नेता चंद्रबाबू नायडू ने अपने साथियों के साथ विधानसभा के प्रवेश द्वार पर धरना दिया.