विशाखापत्तनम: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने सोमवार को कहा कि केंद्र सरकार द्वारा राज्य के लिए किए गए वायदों के पूरा नहीं किए जाने की वजह से लोगों के बीच अशांति फैल रही है. उन्होंने उद्योग मंडल भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) सम्मेलन के दौरान यह बयान दिया. Also Read - Atal Pension Yojana 2020 Latest News: APY के नियमों में मोदी सरकार ने किया बड़ा बदलाव, करोड़ों अंशधारकों को होगा इससे फायदा

नायडू ने राज्य में निवेश के लिए इस सम्मेलन के शुरुआती दो दिनों के दौरान समझौता ज्ञापनों (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए. उन्होंने सम्मेलन के आखिरी दिन केंद्र सरकार के रवैए पर असंतोष जताते हुए अपने विचार रखे. तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के अध्यक्ष ने आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर के साथ मंच साझा करते हुए गठबंधन में भागीदार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा. Also Read - VIDEO: सरकारी दफ्तर में महिला ने मास्क पहनने को कहा, शख्स ने ज़मीन पर पटक लात घूंसों से पीटा

नायडू ने कहा, उन्होंने जो वायदे किए थे, वे उन्हें निभा नहीं रहे हैं, जिससे लोगों के बीच अशांति पैदा हो रही है. तेदेपा ने आम बजट 2018-19 में आंध्र प्रदेश को खास तवज्जो नहीं दिए जाने के विरोध में संसद के बजट सत्र की कार्यवाही बाधित की थी. नायडू ने कहा कि 2014 में आंध्र प्रदेश का विभाजन कर अलग तेलांगाना राज्य बनाने के दौरान आंध्र के साथ अन्याय हुआ है. Also Read - Rajya Sabha Elections 2020: वाईएसआर कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश की सभी चार राज्यसभा सीटों पर हासिल की जीत

उन्होंने कहा कि वह राज्य को विकसित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर लोगों की समस्याओं का समाधान कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को उनसे काफी उम्मीदें हैं. नायडू लंबे समय से केंद्र से उसके द्वारा किए गए वायदों को पूरा करने की मांग कर रहे हैं.