विशाखापत्तनम: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने सोमवार को कहा कि केंद्र सरकार द्वारा राज्य के लिए किए गए वायदों के पूरा नहीं किए जाने की वजह से लोगों के बीच अशांति फैल रही है. उन्होंने उद्योग मंडल भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) सम्मेलन के दौरान यह बयान दिया. Also Read - School Open From Monday: इस राज्य में सोमवार से खुलेंगे स्कूल, ऑनलाइन पढ़ाई का भी विकल्प

नायडू ने राज्य में निवेश के लिए इस सम्मेलन के शुरुआती दो दिनों के दौरान समझौता ज्ञापनों (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए. उन्होंने सम्मेलन के आखिरी दिन केंद्र सरकार के रवैए पर असंतोष जताते हुए अपने विचार रखे. तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के अध्यक्ष ने आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर के साथ मंच साझा करते हुए गठबंधन में भागीदार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा. Also Read - New Education Policy 2020: राष्ट्रपति ने कहा- नई शिक्षा नीति क्वालिटी एजुकेशन उपलब्ध कराने के विजन को करती है सेट,  21वीं सदी की जरूरतों को करती है पूरा

नायडू ने कहा, उन्होंने जो वायदे किए थे, वे उन्हें निभा नहीं रहे हैं, जिससे लोगों के बीच अशांति पैदा हो रही है. तेदेपा ने आम बजट 2018-19 में आंध्र प्रदेश को खास तवज्जो नहीं दिए जाने के विरोध में संसद के बजट सत्र की कार्यवाही बाधित की थी. नायडू ने कहा कि 2014 में आंध्र प्रदेश का विभाजन कर अलग तेलांगाना राज्य बनाने के दौरान आंध्र के साथ अन्याय हुआ है. Also Read - युवाओं को हुनरमंद बनाने की तैयारी में जुटी केंद्र सरकार, जपान, रूस सहित 8 देशों से हुआ समझौता

उन्होंने कहा कि वह राज्य को विकसित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर लोगों की समस्याओं का समाधान कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को उनसे काफी उम्मीदें हैं. नायडू लंबे समय से केंद्र से उसके द्वारा किए गए वायदों को पूरा करने की मांग कर रहे हैं.