अमरावती: आंध्रप्रदेश के चित्तूर और कडपा जिलों में पिछले तीन दिनों में हुई वर्षा जनित घटनाओं में आठ लोगों की मौत हुई है. राज्य सरकार ने शनिवार को बताया कि चित्तूर जिले में छह और कडपा जिले में दो लोगों की मौत हुई है. मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी ने प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद तिरुपति में हालात की समीक्षा की और मृतकों के निकटतम परिजन को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की. उन्होंने वर्षा प्रभावित जिलों में सरकारी राहत शिविरों में रह रहे प्रत्येक व्यक्ति को 5-5 सौ रुपये की सहायता राशि देने को भी कहा है.Also Read - Weather Forecast For Heatwave: उत्तर भारत में हीटवेव से लोगों को मिलेगी राहत, बारिश और आंधी की संभावना

समीक्षा के दौरान जिला कलेक्टरों ने मुख्यमंत्री को बताया कि एसपीएस नेल्लोर जिले में 17,163, कडपा में 15,289 और चित्तूर जिले में 4,012 लोगों ने राहत शिविरों में शरण ली है. कडपा के कलेक्टर सीएच हरिकिरण ने बताया कि जिले में 12,741 लोगों को बाढ़ से बचाया गया है. चक्रवातीय तूफान ‘निवार’ के कारण कडपा में 72,755 हेक्टेयर, एसपीएस नेल्लोर में 33,269 हेक्टेयर और चित्तूर जिले में 9,658 हेक्टेयर कृषि भूमि में फसलें प्रभावित हुई हैं. तीनों जिलों में कुल 5,900 हेक्टेयर बागबानी भी प्रभावित हुई है. Also Read - Weather Forecast Today: दिल्ली, महाराष्ट्र, यूपी, एमपी, बिहार में जारी रहेगी हीटवेव, इन राज्यों में जानें कब होगी बारिश

जिला कलेक्टरों ने मुख्यमंत्री को बताया कि इन जिलों में सैकड़ों मकानों और सैड़कों किलोमीटर सड़कों को भी नुकसान पहुंचा है. मुख्यमंत्री ने जिला कलेक्टरों और जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे कडपा जिले की पींचा और अन्नमया परियोजनाओं को तुरंत शुरू करें, दोनों को ही तूफान से नुकसान पहुंचा है. उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि फसलों को हुई हानि का आकलन 15 दिसंबर तक पूरा कर 31 दिसंबर तक प्रभावित किसानों को अनुग्रह राशि बांट दें. Also Read - समुद्र की तेज लहरों के बीच मिला सोने का रथ, हुआ चौंका देने वाला खुलासा | Watch Video

(इनपुट-भाषा)