तिरुपति: एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश और उनकी पत्नी ने यहां एक चलती ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी. इस ह्रदय विदारक घटना में पहले रिटायर्ड जज ने ट्रेन के सामने कूद कर आत्महत्या की इस घटना के चंद घंटों बाद ही उनकी पत्नी ने भी उसी ट्रैक पर आत्महत्या कर ली. Also Read - कोरोना वायरस और बर्ड फ्लू के बीच आंध्र प्रदेश के इस गांव में इस रहस्यमयी बीमारी का साया, सामने आए 29 मामले

Also Read - सुसाइड करने को नदी में कूदी महिला, लेकिन 'रायता ब्रिज' में फंस गई साड़ी, फिर...

उसी जगह जाकर पत्नी ने भी दे दी जान Also Read - यूपी: सब्जी खरीदने निकली 12वीं की छात्रा का शव पेड़ से लटकता मिला, एक लड़का...

पुलिस ने शनिवार को इस पूरी सनसनीखेज घटना की जानकारी पुलिस के मुताबिक रिटायर्ड जज डी पी सुधाकर (62) ने शुक्रवार को तिरुपति-रेनीगुंटा रेलवे ट्रैक पर एक ट्रेन के सामने कूदकर अपनी जान दे दी. सूत्रों के मुताबिक वह स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं से जूझ रहे थे. पति की मौत की खबर सुन उनकी पत्नी पी वारालक्ष्मी इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पाईं और उसी जगह जाकर चलती ट्रेन के सामने कूद कर उन्होंने भी आत्महत्या कर ली.

दक्षिण रेलवे जोन में बिना चौकीदार वाले फाटक खत्म, बढ़ेगी सुरक्षा

सूत्रों के मुताबिक अतिरिक्त जिला न्यायाधीश के पद से 2014 में सेवानिवृत्त हुए सुधाकर ने संभवत: खराब स्वास्थ्य की वजह से आत्महत्या की है. पुलिस के अनुसार, सुधाकर अपने घर पर एक सुसाइड नोट छोड़कर गए थे, जिसमें उन्होंने लिखा है कि उनकी मौत के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है. रेलवे पुलिस ने ट्रैक पर उनके शव को बरामद किया और उनकी पहचान के बाद उनके परिवार को सूचित किया.

सूचना मिलने के बाद उनके घर में हाहाकार मच गया. उनकी मौत के कुछ घंटे बाद ही जब तक कोई कुछ समझ पाता सुधाकर की पत्नी बिना परिवार के सदस्यों को कुछ बताए चुपके से घर से निकल गईं. बाद में उसी रेलवे ट्रैक पर उनके शव को भी बरामद किया गया, जहां उनके पति ने अपनी जान दी थी. दंपति के परिवार में एक बेटा और एक बेटी हैं.