नई दिल्ली: नवनिर्मित सिग्नेचर ब्रिज पर हुए एक हादसे में दो मेडिकल छात्रों की मौत के एक दिन बाद ही शानिवार को बाइक फिसलने और डिवाइडर से टकराने से एक और युवक की जान चली गई. पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि बाइक सवार मृतक की पहचान 24 वर्षीय शंकर के रूप में की गई है, जो कि उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद का निवासी था. शुक्रवार को सिग्नेचर ब्रिज पर हुए हादसे में भी दो युवकों की जान चली गई थी जिनकी पहचान बाद में डॉक्टर सत्या विजय शंकरन निवासी गोपालगंज बिहार और चंद्रशेखर निवासी देवली गांव खानपुर के रूप में हुई थी. इन हादसों पर सीएम केजरीवाल ने भी चिंता जताई है.

बाइक फिसलने से हुआ हादसा
पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) ए के ठाकुर ने हादसे की जानकारी देते हुए बताया कि, “शंकर अपने चचेरे भाई दीपक (17) के साथ मोटरसाइकिल पर था. वे नांगलोई से पूर्वोत्तर दिल्ली की ओर जा रहे थे.” उन्होंने बताया कि दोनों ने हेलमेट पहन रखी थी. डीसीपी ने कहा, तेज रफ़्तार के चलते अनियंत्रित हो कर उनकी बाइक फिसल गई जिसके बाद शंकर का हेलमेट गिर गया और उसका सिर डिवाइडर से जा टकराया. दोनों को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां शंकर को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. दीपक के घुटनों में चोट आई है. उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को ब्रिज के डिवाइडर से टकराने और यमुना नदी में गिरने से बाइक सवार दो छात्रों की मौत हो गई थी.

सिग्नेचर ब्रिज पर हादसा: बाइक सवार दो युवकों की पुल से गिरकर मौत, सेल्फी बनी वजह !

आपकी ज़िन्दगी बेहद क़ीमती है
लगातार दो हादसों के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चिंता जताते हुए सिग्नेचर ब्रिज को लेकर युवाओं को हिदायत दी. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “सिग्नेचर ब्रिज पर हो रहे हादसों से मैं बेहद चिंतित हूँ। सिग्नेचर ब्रिज दिल्ली की शान है। मेरी सभी लोगों से अपील है, ख़ासकर युवाओं से, कि सिग्नेचर ब्रिज पर सेल्फ़ी लेते वक़्त सावधानी बरतें, और तेज़ गति से वाहन ना चलायें। आपकी ज़िन्दगी देश के लिए और आपके परिवार के लिए बेहद क़ीमती है।”

राजधानी में 4 नवंबर को शुरू हुए इस सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने किया था. शुरूआत से ही ये ब्रिज सेल्फी लेने वालों का अड्डा बना हुआ है. इस पुल की खासियत ही सबसे ऊंचा सेल्फी प्वाइंट बताई जा रही थी. यहां सेल्फी लेने वालों को नियंत्रित करना पुलिस-प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ है. बता दें कि इस सिग्नेचर ब्रिज पर 154 मीटर ऊंचा ग्लास बॉक्स भी है, जो पर्यटक स्थल के रूप में लोगों को शहर का ‘Birds-eye view’ देता है. कल हुई दुर्घटना के बाद भी इस ब्रिज पर सेल्फी लेने वालों का क्रेज नहीं रुक रहा है. दुर्घटना के बाद भी लोगों को यहां सेल्फी लेते देखा जा रहा है.