जयपुरः कोरोना प्रभावित ईरान से दिल्ली लाये गये 275 भारतीय नागरिकों को पृथक करने के लिए रविवार को स्पाइसजेट और इंडिगो विमान से जोधपुर भेजा गया. नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि ईरान से दिल्ली पहुंचे भारतीय नागरिकों को रविवार सुबह पृथक रहने के लिए जोधपुर भेजा गया है. Also Read - दिल्ली में कोरोना के 2,505 नए मामले सामने आए, 10 लाख की आबादी पर किए जा रहे 32,650 टेस्ट

वहीं, राजस्थान के एक अधिकारी ने बताया कि जोधपुर पहुंचे सभी लोगों की हवाईअड्डे पर प्रारंभिक स्क्रीनिंग की गई. इसके बाद सभी नागरिकों को जोधपुर सैन्य स्टेशन स्थित वेलनेस केन्द्र भेज दिया गया. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये भारत में 14 अप्रैल तक 21 दिवसीय लॉकडाउन लागू है. इस दौरान सभी अंतरराष्ट्रीय, घरेलू, और व्यवसायिक उडानों को निलंबित किया गया है. Also Read - चीन की बढ़ेंगी मुश्किलें! कहां से निकला कोरोना वायरस? जांच के लिए अगले हफ्ते चाइना जाएगी डब्ल्यूएचओ की टीम

पुरी ने ट्वीट में लिखा कि कोविड—19 से भारतीय नागरिकों को सुरक्षित बचाने के प्रयास ‘आपरेशन नमस्ते!’ जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि ईरान से लौटे 275 भारतीय नागरिकों को स्क्रीनिंग के बाद दिल्ली से इंडिगो और स्पाइससेट के विमान से पृथक रहने के लिये जोधपुर मिलिट्री स्टेशन पर सेना द्वारा स्थापित किये गये वेलनेस केन्द्र में भेजा गया है. Also Read - यूएस प्रेसिडेंट ट्रंप के बेटे की प्रेमिका Coronavirus से पॉजिटिव, जूनियर ट्रंप पृथक-वास में

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में अब तक 979 लोग कोरोना वायरस संक्रमित पाये गये हैं और कोविड—19 से अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है. अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) रोहित कुमार सिंह ने बताया कि 275 नागरिकों के जत्थे में छह बच्चों सहित 133 महिलाएं और 142 पुरुष शामिल हैं. सेना प्रवक्ता कर्नल सोंबित घोष ने बताया कि इससे पूर्व 25 मार्च को ईरान से आये 277 भारतीय नागरिकों की सेना के मेडिकल दलों द्वारा निगरानी की जा रही है.