सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों में कथित संलिप्तता को लेकर असम में एक जेल में बंद आईआईटी बंबई के पूर्व छात्र शरजील इमाम के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुयी है. एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. Also Read - शरजील ने किया हाईकोर्ट का रुख, ट्रायल कोर्ट के आदेश को दी गई चुनौती

महानिरीक्षक (जेल) दशरथ दास ने कहा कि इमाम और कुछ अन्य कैदियों के नमूनों की जांच की गयी और उनके नतीजे मंगलवार को आए. Also Read - शरजील की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार से मांगा जवाब, अगली सुनवाई 10 दिन बाद

उन्होंने कहा कि राजद्रोह मामले के आरोपी इमाम को पहले दिल्ली ले जाया जाना था, लेकिन अब उन्हें यहां एक अस्पताल में भेज दिया जाएगा. Also Read - जेल में बंद शरजील इमाम पर अब यूएपीए भी लगा, पुलिस बोली- तथ्यों के आधार पर की कार्रवाई

वह संशोधित नागरिकता अधिनियम (सीएए) के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में शाहीन बाग विरोध प्रदर्शन में सक्रिय रूप से शामिल थे. इमाम के उस भाषण के लिए राजद्रोह कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था जिसमें हिंसक माध्यम से असम को देश के बाकी हिस्सों से अलग करने की कथित रूप से धमकी दी गयी थी.

दास ने कहा कि जेल के 435 कैदियों को अब तक कोविड-19 से पीड़ित पाया गया है जिनमें कार्यकर्ता और किसान नेता अखिल गोगोई शामिल हैं.