नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के विधायक और दिल्ली वक्फ बोर्ड के चेयरमैन अमानतुल्लाह खान पर कानून का शिकंजा लगातार कसता ही जा रहा है. बीते दिसंबर महीने में गाजियाबाद पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज किया था. उसमें वो वांछित चल रहा है. बुधवार को दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने उसके खिलाफ एक और केस दर्ज कर लिया. Also Read - राजस्‍थान में तीन अफसरों के यहां छापे में मिलीं 53 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्तियां

दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा द्वारा मामला दर्ज कर लिए जाने की पुष्टि शाखा के प्रमुख अरविंद दीप ने बुधवार को की. उन्होंने कहा, “आरोपी विधायक के खिलाफ लिखित शिकायत मिली थी. उसी के बाद केस दर्ज किया है. मामले की अब विस्तृत जांच की जा रही है. जांच में जो भी सबूत या तथ्य सामने आयेंगे उसके अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी.” Also Read - एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने अधिकारी को रंगे हाथों पकड़ा, घूस की रकम देख उड़ गए होश

आप पार्टी एमएलए के खिलाफ केस आजाद मार्केट दिल्ली निवासी इरशाद कुरैशी की शिकायत पर दर्ज किया गया है. शिकायत में दिल्ली वक्फ बोर्ड चेयरमैन अमानतुल्लाह खान पर कई गंभीर आरोप लगाए गए. इन आरोपों में बोर्ड के खजाने के बेजा इस्तेमाल का भी खुलकर जिक्र किया गया था. आर्थिक अनियमितताओं के अलावा शिकायत में कई अन्य गंभीर आरोप भी अमानतुल्लाह खान पर जड़े गए हैं. Also Read - क्या आम आदमी पार्टी में शामिल होंगे सिद्धू? भगवंत मान बोले- सबसे पहले मैं स्वागत करूंगा

एक समाचार एजेंसी के पास मौजूद शिकायत के मुताबिक, “विधायक और उसके गुर्गो ने मिल-बांटकर ही वक्फ बोर्ड फंड से वाहनों की खरीद में भी कई आर्थिक गड़बड़ियां की हैं.” इन्हीं तमाम बिंदुओं की गहन जांच के लिए दिल्ली सरकार की अपनी ही एंटी करप्शन शाखा ने वक्फ बोर्ड चेयरमैन और सत्ताधारी पार्टी के एमएलए के खिलाफ एफआईआर नंबर 5 पर मामला दर्ज कर लिया.

 

(इनपुट-आईएएनएस)