IAF Chief RKS Bhadauria on China : भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने मंगलवार को कहा कि वैश्विक भू-राजनीतिक मोर्चे पर विकसित अनिश्चितताओं और अस्थिरता ने चीन को अपनी बढ़ती शक्ति का प्रदर्शन करने का अवसर प्रदान किया है और अप्रत्यक्ष रूप से यह वैश्विक सुरक्षा के लिए प्रमुख शक्तियों के अपर्याप्त योगदान को भी सामने लाया है. Also Read - COVID-19 vaccination in India: भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू, लगभग दो लाख कोरोना योद्धाओं को दी गई पहली खुराक; बड़ी बातें

उन्होंने कहा कि चीन की नीति में पाकिस्तान तेजी से मोहरा बना है. सीपीईसी (CPEC ) से जुड़े कर्ज की वजह से आने वाले वक्त में उसकी सैन्य निर्भरता चीन पर और ज्यादा बढ़ जाएगी. अफगानिस्तान से अमेरिका के बाहर निकलने से क्षेत्र में चीन के लिए विकल्प खुल गए हैं. यहीं नहीं प्रत्यक्ष और पाकिस्तान दोनों के लिए विकल्प खुल चुके हैं. इस सबके जरिए चीन अपने प्रभाव को बढ़ाना चाह रहा है. Also Read - Corona Vaccination in India, Day 1: सफल रहा टीकाकरण अभियान का पहला दिन, 1,91,181 लोगों को लगाया गया टीका

वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने कहा है कि वैश्विक मोर्चे पर अनिश्चितताओं ने भी चीन को अपनी बढ़ती शक्ति का प्रदर्शन करने का मौका दिया है लेकिन वैश्विक मोर्चे पर चीन के लिए भारत से टकराव अच्छा नहीं है. Also Read - Army Day 2021: आर्मी चीफ का चीन को स्पष्ट संदेश, कहा- भारतीय सेना के धैर्य की परीक्षा न ले कोई देश, हम...

पूर्वी लद्दाख विवाद को लेकर वायुसेना प्रमुख ने कहा कि चीन ने अपनी आर्मी के लिए भारी तादाद में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर हथियारों की तैनाती कर रखी है. भदौरिया ने कहा कि वहां पर भारी संख्या में रडार्स, जमीन से आसमान और आसमान से आसमान में मार करने वाली मिसाइलों की तैनाती की गई है. उनकी तैनाती मजबूत रही है. हमने सभी आवश्यक कदम उठाए हैं.