नई दिल्‍ली: महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लागू होने के कुछ ही दिन बाद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने एक बड़ा बयान दिया है. गुरुवार को एक कार्यक्रम के दौरान सरकार बनाने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा, ”क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है. कभी आपको लगता है कि आप मैच हार रहे हैं, लेकिन रिजल्‍ट ठीक उल्‍टा होता है.”

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने अपने जवाब में ये भी कहा कि मैं अभी दिल्‍ली से आया हूं. मुझे महाराष्‍ट्र की राजनीति के बारे में विस्‍तृत जानकारी नहीं है.

गडकरी ने ये जवाब उस सवाल पर दिया, जिसमें पूछा गया था कि मुंबई में चल रहे इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍ट का क्‍या होगा अगर महाराष्‍ट्र को बीजेपी सरकार नहीं मिलती है. गडकरी ने कहा कि राज्‍य सरकारें आती और जाती रहती हैं, लेकिन प्रोजेक्‍ट चलते रहेंगे.

केंद्रीय मंत्री ने कहा, सरकार बदल जाएगी, लेकिन प्रोजेक्‍ट लगातार चालू रहेंगे. मैं इसमें कोई समस्‍या नहीं देखता हूं. चाहे ये बीजेपी या एनसीपी या कांग्रेस या अन्‍य किसी दल की सरकार बनती है, वह सकारात्‍मक नीतियों को समर्थन जारी रखेंगी.

वहीं, महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए गुरुवार को कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के नेताओं ने न्यूनतम साझा कार्यक्रम तैयार करने के लिए मुंबई में बैठक की. इसके बाद संभावना है कि शरद पवार के 17 नवंबर को दिल्ली में कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं.