Archaeological Survey of India: आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने आदेश दिया है कि देश की संरक्षित सभी इमारतें और म्यूजियम  16 जून से खोल दिए जाएं. इसके बाद लोग इन ऐतिहासिक धरोहरों का दीदार कर सकेंगे. बता दें कि अप्रैल में कोरोना की वजह से  सभी संरक्षित इमारतें और म्यूजियम को बंद  करने का निर्णय लिया गया था.Also Read - Lockdown Latest Update: आंध्र प्रदेश में फिर एक सप्ताह के लिए बढ़ा लॉकडाउन, जानिए नई गाइडलाइन

कोरोना वायरस के घटते संक्रमण को देखते हुए इस संबंध में आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) ने सोमवार को आदेश जारी कर दिया है कि सभी इमारतें और म्यूजियम खोल दिए जाएं. इसके साथ ही लोगों को कोरोना गाइड लाइन का अनिवार्य रूप से पालन करने को कहा गय है.
कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण की बढ़ती रफ्तार  की वजह से 15 अप्रैल से आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) ने सभी संरक्षित स्मारक/स्थल और संग्रहालय बंद करने का निर्णय लिया  था. हालांकि सभी संरक्षित स्मारक/स्थल और संग्रहालय को पहले मई मध्‍य तक खोलने का निर्णय लिया फिर, बाद में 31 मई और फिर 15 जून तक बंद करने का फैसला लिया गया था. Also Read - Lockdown Latest Update: इन राज्यों ने बढ़ाई टेंशन, लगी 10 दिनों की सख्त पाबंदी, जानिए कहां-कहां फिर लगा फुल लॉकडाउन

चूंकि अब देश में कोरोना का असर धीरे धीरे कम हो रहा है, इसलिए आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) ने सभी संरक्षित स्मारक/स्थल और संग्रहालय को खोलने का निर्णय लिया है. केंद्रीय संस्कृति मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. Also Read - Rajasthan: हल्दीघाटी के ऐतिहासिक युद्ध को लेकर विवादास्पद पट्टिकाओं को हटाएगा ASI

इस आदेश में यह भी कहा गया है कि इन स्‍थलों पर आने वाले लोगों को केन्‍द्र, केन्‍द्र या राज्‍य शासित मंत्रालय की कोरोना को लेकर जारी एसओपी का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा. साथ ही, जिला या आपदा प्रबंधन की गाइड लाइन के अनुसार ही संरक्षित इन सभी धरोहरों में एंट्री मिलेगी.