नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खोले जाने का संकेत देते हुए सोमवार को केंद्रीय मंत्रियों से कहा कि उन इलाक़ों में विभागों को खोलने के लिए श्रेणीबद्ध योजना तैयार करें, जहां कोरोना महामारी का असर नहीं हैं. Also Read - Coronavirus in Assam Update: 156 नए मामलों के साथ संक्रमितों की संख्या 500 के पार, ये जिले बने नए हॉटस्पाट

पीएम ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये केंद्रीय मंत्रिपरिषद की बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह बात कही, आधिकारिक बयान के मुताबिक अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के प्रभाव का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार को इस असर को कम करने के लिए युद्ध स्तर पर काम करना होगा. Also Read - कोरोना वायरस से प्रभावित टॉप 10 देशों की सूची में पहुंचा भारत, जून के अंत तक बहुत तेजी से बढ़ेंगे मामले

पीएम मोदी ने कहा कि मंत्रियों को कामकाज जारी रखने की योजना बनानी चाहिए. बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री ने कहा कि उन इलाकों में विभागों को खोलने की श्रेणीबद्ध योजना बनाई जानी चाहिए जहां पर कोरोना का प्रकोप नहीं है . Also Read - पंजाब में कोविड-19 के 21 नए मामले सामने आये, कुल संख्या बढ़ कर 2,081 हुई

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘किसानों का कल्याण अत्‍यंत महत्वपूर्ण है. सरकार किसानों को फसल कटाई के सीजन में हरसंभव सहायता प्रदान करेगी.” बयान के अनुसार प्रधानमंत्री ने मंत्रियों से ग्रामीण क्षेत्रों एवं जमीनी संस्थानों में आरोग्य सेतु एप को लोकप्रिय बनाने को कहा ताकि महामारी के बारे में जानकारी एवं जागरूकता बढ़ाई जा सके.

प्रधानमंत्री ने मंत्रियों के नेतृत्व की सराहना की और कहा कि उनके द्वारा निरंतर दिए गए सुझाव कोविड-19 से निपटने की रणनीति बनाने में काफी प्रभावकारी साबित हुए हैं.

पीएम ने कहा कि यह सुनिश्चित करना भी अत्‍यंत महत्वपूर्ण है कि पीडीएस केंद्रों पर भीड़ न हो, प्रभावकारी निगरानी बनी रहे, शिकायतों पर ठोस कार्रवाई हो और आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी एवं उनकी कीमतों में वृद्धि को रोका जा सके.

मोदी ने इस बात पर जोर दिया कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना’ के लाभ निर्बाध रूप से निर्दिष्‍ट लाभार्थियों तक पहुंचती रहनी चाहिए.