नयी दिल्ली: कथित तौर पर हथियार रैकेट चलाने के लिए दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उसके पास से 60 से अधिक अत्याधुनिक पिस्तौल और कैश बरामद किया गया है. पुलिस ने बताया कि एक आरोपी की पहचान संजीव (27) के रूप में हुई है, जो हरियाणा में रोहतक का रहने वाला है और उसे दिल्ली के हैदरपुर में एक शमशान घाट से गिरफ्तार किया गया. पुलिस का कहना है कि वहां वह अवैध हथियारों की खेप पहुंचाने के लिए आया था.

उन्होंने बताया कि उसके साथी नूर हसन (25) को मेरठ स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया गया. पुलिस का दावा है कि उनकी गिरफ्तारी के साथ ही मेरठ में हथियारों के एक अवैध कारखाने का पता भी चला है. आगामी गणतंत्र दिवस समारोह और दिल्ली विधानसभा चुनावों के मद्देनजर पुलिस से विशेष जांच अभियान चलाया था, जिस दौरान यह गिरफ्तारी हुई.

पुलिस उपायुक्त (विशेष प्रकोष्ठ) संजीव कुमार यादव ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि संजीव पिछले पांच साल से अवैध हथियारों की तस्करी का काम कर रहा है. वह उन्हें मेरठ में फकरुद्दीन और उसके बेटे नूर हसन से खरीदता था और दिल्ली तथा हरियाणा के अपराधियों को देता था. उन्होंने बताया कि संजीव के पास से दस अर्ध-स्वचालित पिस्तौल बरामद की गई हैं.