नई दिल्ली. सेना प्रमुख बिपिन रावत ने शनिवार को पाकिस्तान को सख्त लहजे में चेतावनी दी है. उन्होंने कहा, अगर पड़ोसी देश पाकिस्तान आतंकवाद को समर्थन देने से बाज नहीं आएगा तो सेना उनके खिलाफ दूसरे तरह का एक्शन लेने पर मजबूर हो जाएगी. इन्फेन्ट्री डे पर आयोजित एक कार्यक्रम से इतर मीडिया से बात करते हुए सेना प्रमुख ने ये बातें कही. हालांकि, उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि वह किस तरह का कदम उठा सकते हैं.

बता दें कि पठानकोट हमले के बाद भारती सेना ने 28 सितंबर 2016 को पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक किया था. इस दौरान भारतीय जवानों ने कई ऐसे टेरर लॉन्च पैड को नष्ट कर दिया था, जिसे पाकिस्तानी सेना समर्थन कर रही थी.

सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा- आतंकवादियों की तरह बर्ताव कर रहे हैं पत्थरबाज, आर्मी करेगी सख्त कार्रवाई

पत्थरबाजों को भी दी चेतावनी
जम्मू कश्मीर में पत्थरबाजी पर उन्होंने कहा, पत्थरबाज हमारे जवानों को टारगेट कर रहे हैं. उन्होंने कल एक जवान को टारगेट कर पत्थरबाजी की जिससे उसकी मौत हो गई. कृपया आप हमें बताएं हम इन पत्थरबाजों की तुलना आतंकियों की मदद करने वाले Over Ground Workers (OWG) से क्यों न करें और वैसी ही कार्रवाई क्यों न करें. हर बार सेना के खिलाफ केस दर्ज होता है, लेकिन इस टाइम हम उनके खिलाफ केस दर्ज कराएंगे. इस बार आर्मी सख्त कार्रवाई करेगी. बता दें कि आतंकियों की मदद करने वाले Over Ground Workers (OWG) पूरी तरह से आतंकी नहीं होते हैं बल्कि ये एक तरह से सूचना देने का काम करते हैं. ये आम लोगों के बीच में उनकी तरह ही घूमते हैं और फिर आतंकियों को पूरी जानकारी देते हैं.

पत्थरबाजी से जवान की हो गई थी मौत
बता दें पथराव की वजह से सिर में चोट लगने से सेना के जवान की मौत हो गई. सेना के एक अधिकारी ने बताया कि सिपाही राजेंद्र सिंह गुरुवार को सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के काफिले को सुरक्षा प्रदान करने वाले क्यूआरटी दल में शामिल थे. शाम करीब छह बजे जब काफिला एनएच-44 के पास अनंतनाग बाईपास तिराहे से गुजर रहा था तो कुछ युवकों ने वाहन पर पथराव किया और सिर पर एक पत्थर लगने से सिंह घायल हो गए.अधिकारी ने बताया कि सिंह को तत्काल प्राथमिक चिकित्सा प्रदान की गई और 92 बेस अस्पताल पहुंचाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया.